Share
अब भारत के वीवीआईपी भी पाएंगे अमेरिकी राष्ट्रपति जैसी सुरक्षा

अब भारत के वीवीआईपी भी पाएंगे अमेरिकी राष्ट्रपति जैसी सुरक्षा

अमेरिकी ने भारत के राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपित और  प्रधानमंत्री के लिए बने विशेष दोनों विशेष विमानों एयरफोर्स-वन के लिए अपने राष्ट्रपति के लिए इस्तेमाल किए जाने वाला अत्याधुनिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम देने को मंजूरी दे दी है.

भारत के अति-विशिष्ट लोगों के लिए खरीदे गए  एयर इंडिया वन के ये दोनों बोइंग 777 जहाजों का अमेरिका में ही अपग्रेडेशन हो रहा है और इनके 2019 के आखिरी दिनों तक देश में लौटने की उम्मीद है.

फिलहाल अमेरिकी सरकार ने इन दोनो जहाजों के लिए 190 मिलियन डालर की लागत वाला लार्ज एयरक्राफ्ट इंफ्रा रेड काउंटर मीजर्स यानि आटोमेटिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम को बेचने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है जिसे अब केवल अमेरिकी संसद की औपरचारिक मंजूरी भर मिलना बाकी रह गया है.

इस सिस्टम से लैस हो जाने पर भारतीय लोकतंत्र के शीर्षस्थ पदोे पर बैठे नेताओं की हवाई यात्राएं और दौरे अमेरिकी और रूस के राष्ट्रपित जितनी सुरक्षित हो जाएगी और ये जहाज किसी भी तरह के मिसाइल हमलों तक से स्वतः ही निपटने में सक्षण हो जाएंगे.

उल्लेखनीय है कि मार्च 2018 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खुद पहल करके साढ़े चार हजार करोड़ की लागत से वीवीआईपी सेवा के लिए एयर इंडिया वन का गठन करते हुए दो बोइंग विमान खरीदे थे.

इन दोनों विमानों में प्रेस कांफ्रेस तक करने की सुविधा के साथ प्रधानमंत्री के लिए सभी जरुरू सुविधाएं तो होगी ही साथ ही ये लगातार बीस घंटे तक उड़ान भर सकते हैं.

Spread the love

Leave a Comment