Share
अजीब रिकार्डः लोकसभा में नहीं लौटता लोकसभा अध्यक्ष

अजीब रिकार्डः लोकसभा में नहीं लौटता लोकसभा अध्यक्ष

फिलहाल चाहे -अनचाहे एक रिकार्ड अपने आप बन गया है और वो कि पिछले 21 सालों से लोकसभा अध्यक्ष रहा कोई भी व्यक्ति संसद के इस निचले सदन में चुनावों के जरिए वापसी नहीं कर सका है.

इसका सबसे ताजा उदाहरण मौजूदा लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन बनी हैं जिन्हें भाजपा ने इस बार 75 साल की उम्र पूरी कर लेने को आधार बनाकर टिकट ही नहीं दिया है.

इसके पहले भी तमाम नेता है जो लोकसभा अध्यक्ष रहने के बाद तुरंत हुए लोकसभा चुनावों में अपनी वापसी नहीं कर सके.

सुमित्रा महाजन से ठीक पहले 2009 से 2014 तक देश की पहली महिला और दलित लोकसभा अध्यक्ष रही कांग्रेस की मीरा कुमार ने भी लोकसभा अध्यक्ष रहते हुए जो चुनाव लड़ा उसमें वो वापसी नहीं कर सकीं और भाजपा के छेदी लाल पासवान से चुनाव हारकर लोकसभा पहुंचने से वंचित हो गईं.

इसके पहले यूपीए के पहले शासन काल में लोकसभा अध्यक्ष रहे वामपंथी नेता सोमनाथ चटर्जी 2004 से 2009 तक लोकसभा अध्यक्ष रहे पर न्यूक्लियर डील को लेकर सरकार के खिलाफ खड़ी वामपंथी माकपा ने उनसे भी विरोध मेंं इस पद से इस्तीफा देने को कहा पर डील के पक्ष में खड़े सोमनाथ चटर्जी ने ऐसा करने से मना कर दिया और पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया.

आहत सोमनाथ चटर्जी ने खुद ही ऐलान कर दिया था कि वो लोकसभा अध्यक्ष का कार्यकाल पूरा करने के बाद चुनाव नहीं लड़ेगे और राजनीति सहित अपनी पार्टी से बेदखल किए गए चटर्जी ने 13 अगस्त 2018 को दुनिया से अंतिम विदाई ले ली.

इसके पहले अटल सरकार में लोकसभा अध्यक्ष रहे मनोहर जोशी भी अगला चुनाव अपनी पुरानी सीट मुम्बई सेंट्रल से हार गए और लोकसभा पहुंचने से वंचित रह गए पर दो साल के राजनीतिक निर्वासन के बाद उनकी पार्टी शिव सेना ने उन्हें 2006 में राज्यसभा में भेज दिया.

जोशी से पहले तेलुगू देशम पार्टी के जीएसएम बालयोगी 1999 में लोकसभा अध्यक्ष बने थे पर 3 मार्च 2002 को आंध्र में एक हैलीकाप्टर दुर्घटना में उनकी मौत हो गई और वे अगला चुनाव नहीं लड़ सके

Spread the love

Leave a Comment