Share
सामने आ गई पीएम मोदी की बहुप्रचारित मुद्रा योजना की भी हकीकत

सामने आ गई पीएम मोदी की बहुप्रचारित मुद्रा योजना की भी हकीकत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बहुप्रचारित जिस मुद्रा योजना के सहारे सरकार नए उद्योग लगने और रोजगार के अवसर सृजित करने का दावा करती रही है उसकी असली तस्वीर भी अब सामने आ गई है.

इस योजना की सच्चाई का खुलासा किसी और ने नहीं श्रम और रोजगार मंत्रालय के तहत आने वाल लेबर ब्यूरो ने एक सर्वे के बाद किया है.

इस सर्वे में कहा गया है कि मुद्रा योजना से नए रोजगार लगने के सरकारी सपनों को ऋण लेने वालों ने बिलकुल ही पलीता लगा दिया है क्योंकि पांच में से सिर्फ एक रकम हासिल करने वाले ने नया उद्योग लगाने में दिलचस्पी दिखाई जबकि पांच में से चार न रकम का इस्तेमाल या तो अपने दूसरे धन्धे को चमकाने में किया या फिर कहीं और.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार सर्वे के लिए कोई 97 हजार लाभार्थियों से बात की गई जिन्होंने एक करोड़ 12 लाख नई नौकरियों के सृजन की जानकारी दी पर इनमें आधे से ज्यादा तो अवैतिनक यानि उद्योग लगाने वाले के ही परिजन थे और कुल दस फीसदी जगहो पर बाहर के लोगों को नौकरी मिली जबकि सरकार ने औसतन 46 हजार से ज्यादा की रकम इन लाभार्थियों को दी.

Spread the love

Leave a Comment