Share
सुशासन बाबू के कुशासन को सुप्रीम कोर्ट की जमकर फटकार

सुशासन बाबू के कुशासन को सुप्रीम कोर्ट की जमकर फटकार

अपने सुशासन का डंका पीटने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के शाशन को कुशासन बताकर सुप्रीम कोर्ट नेे मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस को लेकर नितीश कुमार की जम कर आलोचना की.

सुप्रीम कोर्ट में  जस्टिस लोकुर, जस्टिस अब्दुल नजीर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने कहा कि लड़कियों के यौन शोषण को लेकर जितनी कमजोर एफआईआर बिहार सरकार ने दर्ज की है वो शर्मनाक और अमानवीय है.

जस्टिस लोकुर ने बिहार सरकार से पूछा  कि  जब एक  बच्चे का  शोषण  होता है तो पास्को के साथ अप्राकृतिक सम्बन्ध की धारा क्यों नही लगाई गई और आप  कैसे कह सकते हैं कि कुछ हुआ ही नहीं है.. क्यों इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं की गई, जब टाटा इसंटीट्यूट आफ सोशल साइंसेज ने अपनी रिपोर्ट मई माह में सरकार को सौपी तो सरकार तुरंत सतर्क क्यों नहीं हुई.

सुप्रीम कोर्ट ने इस बात के भी साफ  संकेत दिए कि वो  इस मामले की जांच स्थानीय पुलिस से लेकर  सीबीआई को दे सकती है.

इसके साथ ही कोर्ट ने बिहार सरकार  को अपनी एफआईआर दुरुस्त करने के लिए मात्र 24 घंटे का समय देते हुए मुकदमें की अगली सुनवाई कल के लिए नियत की है.

Spread the love

Leave a Comment