Share
कांग्रेस में बड़ा बदलाव, हिन्दुत्व से बड़ा खतरा भाजपा तो शिवसेना का साथ भी मंजूर

कांग्रेस में बड़ा बदलाव, हिन्दुत्व से बड़ा खतरा भाजपा तो शिवसेना का साथ भी मंजूर

कांग्रेस ने अपनी सोच में बड़ा बदलाव करते हुए  पहली बार उग्र हिन्दुत्व और राष्ट्रवाद की राजनीति करने वाली शिव सेना के साथ महाराष्ट्र में सरकार बनाने का फैसला किया है और ये फैसला पार्टी की सबसे ऊंची और पहले भी कई बार आश्चर्यजनक फैसला लेने वाली कांग्रेस कार्यसमिति ने लिए है तो इस पर अब कोई सवाल उठा सके इसकी भी सम्भावना नहीं है.

खबर है कि आज सुबह दिल्ली में  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर हुई  कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक  पार्टी की इस सर्वोच्च संस्था ने महाराष्ट्र के हित में शिव सेना के साथ मिलकर सरकार बनाने को मंजूरी दे दी जिसका सीधा मतलब है कि कांग्रेस जो अब तक सैद्धांतिक आधार पर भाजपा और शिव सेना से दूरी बनाए रखती थी उसने उस पुरानी नीति को छोड़ देने का फैसला ले लिया है.

जाहिर है कि पार्टी ने यह फैसला महाराष्ट्र चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी भाजपा को जमीनी मात देने के लिए ही किया होगा पर इससे यह साफ है कि कांग्रेस की नजर में अब हिन्दुत्व से बड़ा संकट भाजपा है जिसे हराने के लिए किसी हिन्दूवादी दल से तालमेल बैठा ने में भी कोई बुराई नही है.

बैठक के बाद पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मीडिया से कहा कार्यसमिति ने शिवसेना के साथ भी सरकार बनाने की कोशिशों को जारी रखने की इजाजत दे दी है पर सरकार बनाने पर अंतिम फैसला शिवसेना के साथ शुक्रवार को  मुम्बई में होने वाली बैठक में लिया जाएगा.

बहरहाल कांग्रेस कार्यसमिति की इस मंजूरी के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस के मुखिया शरद पंवार के घर पर कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे पृथ्वीराज चव्हाण  की मौजूदगी में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेताओं की बैठक  हुई जिसमें दोनों दलोंं ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम को लेकर बातचीत की.

उधर, शिवसेना के नेता संजय राउत ने भी अब दावा कर दिया है कि  महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन  की सारी बाधाएं दूर कर ली गई हैं और एक दो दिन में सरकार बन जाएगी.

Spread the love

Leave a Comment