Share
सुप्रीम कोर्ट में गुहार, अनिल अम्बानी को भागने से रोका जाए

सुप्रीम कोर्ट में गुहार, अनिल अम्बानी को भागने से रोका जाए

स्वीडन की टेलीकाम कम्पनी एरिक्सन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके रिलांयस के मालिक अनिल अम्बानी पर अदालती आदेश के बावजूद पांच सौ करोड़ रुपए डकार जाने का आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट से फरियाद की है उनके देश से  बाहर जाने पर तुरंत रोक लगाई जाए.

एरिक्सन ने अपनी याचिका में कहा है कि अनिल अम्बानी की कम्पनी रिलायंस कम्युनिकेशन्स ने परु आरोप लगाया है कि सुप्रीम कोर्ट के साफ आदेश के बावजूद  उसे  सितम्बर 2018 तक  साढ़े पांच सौ करोड़ का भुगतान  नहीं किया गया है जो सीधे सीधे अदालत की अवमानना भी है.

उधर रिलायंस का कहना है कि इस रकम की देनदारी भारत सरकार के टेलीकाम  मंत्रालय  की बनती है उसकी नहीं.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार रिलायंंस ने दूर संचार और स्टाक एक्सचेंज को भेजे नोटिस में कहा है कि सरकारी विभाग के कारण वह स्पेक्ट्रम नहीं बेच पा रही और एरिक्सन की यह याचिका गैर जरूरी है क्योंकि यह उसका गैर सुरक्षित लेनदार है.

उल्लेखनीय है कि अनिल अम्बानी के बड़े भाई मुकेश अम्बानी की गिनती जहां देश के सबसे बड़े रईसों में होती है वहीं अनिल की कम्पनी रिलायंस कम्युनिकेशन दिवालिया होने की कगार पर पहुंच चुकी है और हालत यह है कि मुकेश और अनिल की दौलत में 15 गुने का अंतर आ चुका है, शायद यही वजह है कि अनिल अम्बानी की सारी उम्मीदें अब राफेल विमानों के सौदे से बंध गई हैं.

Spread the love

Leave a Comment