Share
शिव सेना को  भी चाहिए राम मंदिर के श्रेय मेंं हिस्सा…

शिव सेना को भी चाहिए राम मंदिर के श्रेय मेंं हिस्सा…

अभी अयोध्या में राम मंदिर भले बना न हो पर शिव सेना भी उसे बनवाने और अपने हिन्दुत्व को ज्यादा उग्र बताने की होड़ में भाजपा से आगे निकलने में जुट गई है.

शिव सेना  प्रमुख उद्धव ठाकरे आज  दूसरे दिन भी अयोध्या में ही हैं हालांकि आज उनके वापस लौट जाने का  कार्यक्रम है लेकिन सुबह पत्नी और बेटे समेत राम लला के दर्शन करने के बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए भाजपा को धमकाया कि इस बार अगर मंदिर नहीं बना तो वो 2019 में सत्ता में वापसी का सपना भी भूल जाए.

ठाकरे ने कहा कि चुनाव से पहले भाजपा राम राम करती है पर चुनाव जीतने के बाद कुम्भकरण की नींद सो जाती है पर यह अब चलने वाला नहीं है और मैं इस सरकार को इसी साल के अंत तक का समय देता हूं कि वो मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश ले आए क्योंकि यह हिन्दुओं की पूर्ण बहुमत की सरकार है.

उन्होंने कहा  कि मेरा कोई छिपा हुआ एजेन्डा नहीं है मैं अयोध्या कुम्भकरण को जगाने आया था.

साफ है कि शिवसेना महाराष्ट्र के बाहर अपना विस्तार चाहती है और यह भी सही है कि उसका हिन्दुत्व भाजपा से कहीं ज्यादा मारक है तो वो राम मंदिर पर मौका क्यों छोड़े.

उधर शिव  सेना प्रमुख की यात्रा और अयोध्या में जिस तरह शिव  सेना के बड़े नेताओं और दो ट्रेनों में भरकर आए शिव सैनिकों ने डेरा डाला है उससे भाजपा में कुछ बेचैनी तो नजर आने लगी और उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और विहिप नेता केशव  प्रसाद मौर्या ने साफ कहा कि मंदिर आंदोलन में शिव सेना की कोई भूमिका नहीं है और वो बेवजह इसमें श्रेय लेने की कोशिश न करे.

उधर ठाकरे के आते ही विश्व हिन्दू परिषद ने भी ऐलान कर दिया कि उसकी धर्म संसद कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं जिसमें किसी राजनेता के शामिल होने का मतलब नहीं है.

विहिप ने साफ किया कि राम मंदिर के लिए बजरंग दल 25 हजार से ज्यादा कार्यकर्ता भर्ती करेगा जो घूम-घूमकर राम मंदिर के लिए लोगों को हर तरह के संघर्ष के लिए तैयार  करेंगे.

Spread the love

Leave a Comment