Share
बदल गई शिव सेना, नए विवाद के बीच सावरकर के पोते से नहीं मिले उद्धव ठाकरे

बदल गई शिव सेना, नए विवाद के बीच सावरकर के पोते से नहीं मिले उद्धव ठाकरे

सावरकर और गोडसे के बीच समलैंगिक रिश्तों को लेकर चल रहे विवाद के बीच शिव सेना का ताजा रुख थोड़ा आश्चर्य करने वाला है क्योंकि शायद ये महाराष्ट्र में बनी नई राजनैतिक पैतरेबाजी का ही असर है कि सावरकर को महान नेता मानने के बाद भी मुख्यमंत्री और सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज सावरकर के पोते रंजीत सावरकर से नहीं मिले.

रंजीत सावरकर ने खुद मीडिया को बताया कि तमाम कोशिशों के बाद भी उनकी आज दिन भर शिवसेना प्रमुख और राज्य के नए मुख्यमंत्री ठाकरे से मुलाकात नहीं हो सकी.

रंजीत सावरकर ने कहा, ‘उद्धव ठाकरे के पास मुझसे बात करने के लिए एक भी मिनट का समय नहीं है जबकि यह सावरकर जी के  अपमान के लिए कांग्रेस सेवा दल, राहुल गांधी और अन्‍य लोगों पर  तुरंत मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए था.

उल्लेखनीय है कि शिवसेना का तरफ से संजय राउत ने जरुर एक रस्मी बयान जारी करके सावरकर जैसे महापुरुषों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां करने से बचने की अपील की है.

उल्लेखनीय है कि  कांग्रेस सेवा दल ने मध्य प्रदेश में एक शिविर में किताब जारी करके सावरकर और उनके शिष्य नाथूराम गोडसे के बीच समलैंगिक सम्बन्धों का आरोप लगाया है और एक और किताब फ्रीडम एट मिडनाइट के हवाले से कहा है कि सावरकर उन नेताओं में थे जो बलात्कार को भी विरोधियों के खिलाफ एक हथियार मानते थे.

Spread the love

Leave a Comment