Share
चूहो से मुक्त दुनिया का अकेला क्षेत्र कनाडा का अल्बर्टा

चूहो से मुक्त दुनिया का अकेला क्षेत्र कनाडा का अल्बर्टा

आज जबकि  बर्फ से पटे अंटार्कटिक को छोड़ दें तो चूहे धरती के नब्बे फीसदी हिस्से पर कब्जा कर चुके हैंं और अमेरिका के कई शहर तो चूहों के आंतक से जूझ रहे हैं पर दुनिया में एक शहर ऐसा भी है जहां आपको एक भी चूहा नहीं मिलेगा क्योंकि यहां पर चूहा दिखने  पर उसे न  मारना भी अपराध है.

जी हां, यह इलाका है कनाडा का प्रांत अल्बर्टा जहां अब एक भी चूहा नहीं और इसे चूहों से मुक्त करने के लिए खासी मशक्कत की गई है और एक आक्रामक प्रचार के जरिए चूहों को मानवता और इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए लोगो को समझाया गया है कि चूहा मारना ही सबसे बड़ा धर्म है.

वैसे तो शायद अब लोग भूल चुके होंगे कि मूल रूप से चीन के निवासी चूहे दुनिया भर में इतनी तेजी से फैले हैं कि अब कहा जाने लगा है कि हर आदमी के हिसाब से कम से कम एक चूहा तो धरती पर मौजूद है ही.

खूबसूरत अल्बर्टा प्रांत में वैसे तो कनाडा के कैल्गरी और एडमॉन्टन जैसे शहर आते  हैं और कुल मिलाकर इस इलाके की जनसंख्या कोई 43 लाख से कुछ ज्यादा है पर इस इलाके को चूहों से मुक्त करने में कुछ तो प्रकृति ने और कुछ इंसानी प्रयासों ने भरपूर काम किया है.

कनाडा के दूसरे इलाकों की तरह चूहों ने यहां भी .1950 के आसपास दाखिल होने की कोशिश की थी पर तीन ओर से पहाड़ो से घिरे ठंडे जलवायु और बिरले बसे इलाकों के कारण उनका फैलना आसान नहीं था.

हालांकि इस इलाके में गांव और शहर दोनों है पर यहां की सरकार ने घुसपैठिए चूहों को मारने के लिए पेस्ट कट्रोल अफसरो को तैनात करके युद्धस्तर पर अभियान चलाया और अच्छी खासी रकम खर्च की.

अब न्यूजीलैंड, नार्वे, आस्ट्रेलिया जैसे देश यहां से सबक लेते हुए अपने यहां चूहा उन्मूलन कार्यक्रम चला रहे है पर उन्हें अभी तक शत-प्रतिशत  कामयाबी नहीं मि सकी है.

Spread the love

Leave a Comment