Share
बोरिया-बिस्तरा समेटे रूसी देश छोड़ने को तैयार, घटती जनसंंख्या पुतिन की परेशानी

बोरिया-बिस्तरा समेटे रूसी देश छोड़ने को तैयार, घटती जनसंंख्या पुतिन की परेशानी

पिछले सालों की तुलना में रूसी अब कहीं ज्यादा बड़ी संख्या में अपना देश छोड़कर चले जाना चाहते हैं.

पहले से घटती जनसंख्या की समस्या झेल रहे रूस के लिए एक अमेरिकी नामी सर्वे संस्था गाल-अप द्वारा निकाला गया ये नतीजा चिन्ता का विषय हो सकता है क्योंकि साढ़े 14 करोड़ से कुछ ज्यादा जनसंख्या वाले रूस की आबादी 2018 में ही 87 हजार घट चुकी है.

यह अमेरिकी सर्वे कहता है पहले जहां 17 फीसदी रूसी देश छोड़ने के लिए तैयार थे वहीं अब बीस फीसदी से ज्यादा बोरिया-बिस्तरा समेटे बेठे हैं.

वैसे संयुक्त राष्ट्र की भी एक एजेंसी ने आगाह किया है कि 2050 तक रूस की आबादी आठ प्रतिशत तक घटकर 14 करोड़ से 11 करोड़ हो सकती है.

आबादी घटने की बड़ी वजह रूस में बेहद कम जन्म दर और मृत्यु दर का बहुत ज्यादा होना है.

इस समय रूस में मृत्युदर करीब 15 प्रति हजार है और इसकी बड़ी वजह शराबखोरी है जिसकी वजह से लोग बीमारी से भी मरते हैं और हादसो से भी जबकि जन्म दर दस प्रति हजार है और महिलाएं ज्यादातर एक बच्चा ही पसन्द करती हैं.

कुछ समय पहले रूसी राष्ट्रपति ने अपनी संसद में इस बात की जरूरत भी बताई थी कि लोगों को दूसरे बच्चा पैदा करने के लिए कुछ प्रोत्साहन दिये जाने की जरुरत है पर अभी ऐसी कोई योजना शुरु नहीं हुई है.

Spread the love

Leave a Comment