Share
पाकिस्तान को अब उसके ही पूर्व राष्ट्रपति ने आतंकियों का मददगार बता नंगा किया

पाकिस्तान को अब उसके ही पूर्व राष्ट्रपति ने आतंकियों का मददगार बता नंगा किया

आतंकियों का मददगार नहीं खुद आतंकवाद पीड़ित होने का जो मुखौटा पाकिस्तान ने ओढ़ रखा था, उसे आज उसके ही पूर्व राष्ट्रपति और सैनिक तानाशाह रहे परवेज मुशर्रफ ने उतारकर तार तार कर दिया.

परवेज मुशर्रफ ने आज स्वीकार किया कि उनके शासनकाल में भी जैश की मदद सो पाकिस्तान खुफिया एजेसिया और पाकिस्तानी सेना भारत में बम धमाके करवाती थी और ये बात तो उनकी जानकारी में भी है.

फिलहाल दुबई में रह रहे 75 मुशर्रफ ने कहा कि उस समय वो उस पर कोई सख्त फैसला इसलिए नहीं ले सके थे क्योंकि उनके सामने भी ऐसी स्थितियां थी जिसमें वो सेना और खुफिया एजेंसियों के खिलाफ नहीं जा सकते थे पर वो जैश-ए-मोहम्मद को पसन्द नहीं करते थे यह बात उस संगठन के हुक्मरानों को भी पता थी इसीलिए बाद में उन पर भी दो बार जैश ने हमला करके उनकी जान लेने की कोशिश की.

उन्होंने कहा कि भले ही इमरान खान इस समय आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने का माहौल बना रहे हों पर जैश के खिलाफ वो भी तभी कार्रवाई कर सकेंगे जब भारत पाकिस्तान को ऐसे सुबूत सौंपे जो पाकिस्तान की अदालतों में ठहर सके वरना जो कुछ किया जा रहा है उसकी अहमियत दिखावे से ज्यादा की नहीं रहेगी.

उल्लेखनीय है कि परवेज मुशर्रफ 1999 से 2008 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे और सेनाध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने पाकिस्तान की सत्ता हथियाई थी और 2007 में संविधान को अपने फायदे के लिए निलम्बित किया था जिसे लेकर उनके खिलाफ मुकदमा चल रहा है.

Spread the love

Leave a Comment