Share
नवाज शरीफ ऐसी बीमारी का शिकार जिसका इलाज पाकिस्तान में नहीं

नवाज शरीफ ऐसी बीमारी का शिकार जिसका इलाज पाकिस्तान में नहीं

भ्रष्टाचार के आरोप में सात साल की सजा काट रहे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ऐसी बीमारी का शिकार हैं जिसका इलाज फिलहाल पाकिस्तान में नहीं है.

पिछले दो सप्ताह से लाहौर के सर्विस इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज मे इलाज करा रहे नवाज शरीफ को प्रतिरोधक क्षमता से जुड़ी इस अजीब बीमारी के कारण ही लाहौर हाईकोर्ट और इस्लामाबाद हाइकोर्ट ने मेडिकल आधार पर जमानत दे दी है जबकि उनकी अच्छी खासी सजा अभी बाकी है.

तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहे 69 साल के नवाज शरीफ की बीमारी को पंजाब सरकार के मेडिकल बोर्ड ने भी बेहद गम्भीर तो कहा है पर मेडिकल बोर्ड के अध्यक्ष डा. मेहमूद अयाज ने इस बीमारी के बारे में ज्यादा कुछ बताने से ये कहते हुए इंकार कर दिया कि मेडिकल एथिक्स इसकी इजाजत नहीं देता पर उन्होंने इतना जरुर साफ कर दिया कि पूर्व प्रधानमंत्री को जो बीमारी है उसकी न तो टेस्टिंग पाकिस्तान में हो सकती है और न ही इलाज.

नवाज शरीफ को पिछले महीने अस्पताल में भर्ती कराया गया था जब उनकी ब्लड प्लेटलेट्स बुरी तरह घट गई थी और तब से वो डायबटीज, के साथ दिल और कई अन्य अंग ठीक से काम न करने की बीमारियों के शिकार हैं.

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट द्वारा भ्रष्टाचार के आरोप में आजीवन राजनीति से बेदखल किए गए नवाज शरीफ को एक दूसरे बेहतर शरीफ मेडिकल सिटी अस्पताल में शिफ्ट करना था पर अपनी बेटी मरियम को जमानत के लिए जरुरी सात करोड़ की नगदी और एक एक करोड़ की दो जमानते दिए जाने के बाद भी रिहा न किए जाने से नाराज होकर शरीफ न आखिरी समय में कल अस्पताल  छोड़ने ने से इंकार कर दिया.

लेकिन आज नए अस्पताल के डाक्टर और नर्सो की मौजूदगी में शरीफ बेटी और अन्य परिवारी जनों के साथ जाती उमरा स्थित अपने आवास के लिए रवाना हो गए हैं जहां से उन्हें आगे के इलाज के लिए ले जाया जाएगा.

Spread the love

Leave a Comment