Share
अब रेलवे पर लटकी छंटनी की तलवार, जाएगी तीन लाख से ज्यादा की नौकरी

अब रेलवे पर लटकी छंटनी की तलवार, जाएगी तीन लाख से ज्यादा की नौकरी

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में रेल कर्मचारियों को भी कामकाज की नई संस्कृति के तहत  छंटनी का सामना करना पड़ेगा और अगले वित्तीय वर्ष के पहले ही कम से कम तीन लाख लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है.

रेलवे में इस समय 13 लाख कर्मचारी है और रेलवे को फायदे में चलाने की रणनीति के तहत मोदी सरकार इस संंख्या को 2020 तक हर हाल में दस लाख पर लाना चाहती है.

इसी के तहत रेलवे बोर्ड  ने इसी 27 जुलाई को अपने सभी मंडलो को पत्र लिखकर ऐसे कर्मचारियों की सूची नौ अगस्त तक तैयार करके भेजने को कहा है जिनकी कामकाज ठीक नहीं है या जो 55 साल के हो चुके हैं या तीस साल की नौकरी पूरी कर चुके है.

लगता तो यही है कि ऐसे कर्मचारियों को या तो ऐच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए कहा जाएगा या फिर इन्हें जबरिया रिटायर किया जाएगा.

Spread the love

Leave a Comment