भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे राम मंदिर का हिसाब किताब अब टीसीएस रखेगा..

जमीन खरीद में आरोपों से घिरे अयोध्या के राम मंदिर ट्रस्ट का हिसाब किताब अब बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस देखेगी जिसने राम मंदिर ले करीब राम घाट में अपना दफ्तर भी बनाना शुरू कर दिया है जो इसी साल के आखिर तक काम करना भी शुरू कर देगा।

राम मंदिर ट्रस्ट ने सोमवार को इस आशय की घोषणा भी की।

ट्रस्ट ने तय किया है कि उसके तीन हजार करोड़ रुपयों के फंड के लिए डिजिटल अकाउंट प्रबंधन का काम टीसीएस ही करेगा और इसमें किसी और की दखल नहीं होगी।

ट्रस्ट ने   इसके लिए अपने तीन सदस्यों को मुंबई भेजा था जो टीसीएस के साथ समझौते करके लौटे हैं।

Subscribe to our Newsletter