मोदी सरकार को तगड़ा झटका: पेगासस जासूसी की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने कमेटी बनाई

मोदी सरकार को तगड़ा झटका देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को पेगासस स्पाइवेयर मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय स्वतंत्र विशेषज्ञ कमेटी का गठन कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट की इस कमेटी की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस आरवी रवींद्रन करेंगे और यह उन सारे पहलुओं की जांच करेगी जिसके आधार पर मीडिया और विपक्ष की आवाज दबाने के आरोप मोदी सरकार पर लगाए जा रहे हैं।

यह फैसला सुनाते हुए देश के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हेमा कोहली ने प्रेस की आजादी को लोकतंत्र की बुनियाद बताते हुए अंधाधुंध लोगों की कथित निगरानी को इसके खिलाफ बताया और कई कड़ी टिप्पणियां की। 

देश की सबसे बड़ी अदालत ने साफ कहा कि हर व्यक्ति की निजता की गारंटी सविधान देता है और उसमें कोई भी हस्तक्षेप तभी किया जा सकता है जब राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो पर उसकी भी कानूनी समीक्षा होगी और बड़े पैमाने पर लोगों की निजता का उल्लंघन तो किसी भी हालत में स्वीकार्य नहीं हो सकता।



Subscribe to our Newsletter