Share
इंजेक्शन नहीं अब डायबटीज़  में लें कैपसूल

इंजेक्शन नहीं अब डायबटीज़ में लें कैपसूल

डायबटीज़ के मरीजों को बड़ी राहत देते हुए वैज्ञानिकों ने ऐसे कैप्सूल बना लिए हैं जो पेट में सीधे इंसूलिन की खुराक पहुंचा देंगे यानि टाइप -2 मधुमेह रोगियों के लिए अब इंसूलिन के इंजेक्शन लेना मजबूरी नहीं रह जाएगी.

कैम्ब्रिज के मुसाचे इंस्टीट्यूट आफ साइंसेज ने जामुन के आकार के एक कैपसूल तैयार किए हैं जो अपने आप में इंसूलिन की छोटी सी सुई को छिपाए रहता है.

इंजेक्शन की जगह जब कोई मरीज इन कैप्सूलों को निगलता है तो उसके पेट में जाकर ये फट जाते हैं और इंसूलिन की छोटी सी सुई उसके पेट में घुसकर खून में दवा पहुंचा देती है.

इस कैप्सूल का ट्रायल अब तक जानवरों में कामयाब रहा है और इसे बनाने वाले मिट्स के वैज्ञानिकों का कहना है कि इसमें सुई बनाने के लिए इंसूलिन को सौ गुना तक संकुचित किया जाता है और एक बार मनुष्यों में भी यह खरा उतर जाए तो फिर इसका इस्तेेंमाल दूससी प्रोटीन दवाओं के लिए भी किया जा सकता है.

Spread the love

Leave a Comment