Share
सीमा विवाद पर अब नेपाल भी भारत को आंख दिखा रहा

सीमा विवाद पर अब नेपाल भी भारत को आंख दिखा रहा

पाकिस्तान के साथ ही नेपाल ने भी भारत के नए नक्शे पर एतराज जताते हुए उस पर नेपाली भू-भाग को कब्जाने का आरोप लगा दिया है.

इस बार भारत का साथ छोड़कर चीन और पाकिस्तान के साथ नेपाल भी भारत पर इलाकाई दादागीरी करने का आरोप लगा रहा है पर गनीमत इतनी ही है कि अभी वो बातचीत और सहमति से विवाद का हल निकालने की बात कर रहा है किसी सैनिक संघर्ष या दूसरे देश से मदद नहीं मांग रहा.

दरअसल भारत ने कश्मीर के विभाजन के बाद इसी 31 अक्टूबर को देश का जो नक्शा जारी किया है उसे लेकर जहां पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर के गिलगिट और बाल्टिस्तान को भारत में दिखाने का आरोप लगा रहा है तो पुराना दोस्त नेपाल भी  उत्तराखंड से सटे  कालापानी और  लिपु लेख इलाक़ों को अपना बताते हुए भारत से इस इलाके से तुरंत अपनी सेना हटाने की मांग कर रहा है.

नेपाल के विदेश मंत्रालय ने पिछले सप्ताह एक प्रेस रिलीज जारी करके  कहा है कि नेपाल अपने कालापानी क्षेत्र की एक इंच जमीन भी भारत को लेने नहीं देगा और इस इलाके से  भारतीय सेना को हटना ही होगा वहीं भारत कह रहा है कि सिवाय कश्मीर में  हुआ बदलाव शामिल करने के नक्शे में एक मिमी. का भी फेरबदल नहीं किया गया है.

नेपाल का दावा है कि कालापानी और लिपु लेख को उसने तत्कालीन ईस्ट इंडिया कंपनी से एक समझौते के अंतर्गत हासिल किया था.

हालांकि नेपाल सीमा पर भारत के 59 आउट पोस्ट हैं और नेपाल के एक भी नहीं पर अब नेपाल भी भारतीय सीमा आउट पोस्ट बनाने की बात करने लगा है.

वैसे इस पड़ोसी पहाड़ी देश की कोई 36 हेक्टेयर जमीन चीन भी दबा चुका है जिसे लेकर अब तक वहां चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे थे पर शायद अब कहीं उसका गुस्सा चीन से ज्यादा भारत के खिलाफ न उभर आए ये खतरा तो बना हुआ है ही.

भारत का तो साफ मानना है कि इस विवाद के पीछे  चीन है और नेपाल के कुछ जिलों में चीनी सेना की मौजूदगी इसका सुबूत है.

Spread the love

Leave a Comment