Share
मोदी सरकार की अच्छी पहल, स्कूलों के आसपास नहीं बिकेगे जंक फूड

मोदी सरकार की अच्छी पहल, स्कूलों के आसपास नहीं बिकेगे जंक फूड

मोदी सरकार ने अच्छी पहल करते हुए स्कूलों के आसपास हर तरह के नुकसानदेह जंक फूड की बिक्री पर रोक लगाने की पहल की है.

फूड सेफ्टी और स्टैन्डर्ड अथारिटी द्वारा जारी किए गए ड्राफ्ट गजट के अनुसार स्कूलों के पचास मीटर के दायरे में और स्कूलों की कैंटीनो और मेसो में हर तरह के अस्वास्थ्यकर खाने के बनने और बिक्री पर रोक लगा दी गई है.

इस रोक के मापदंड तय करने के लिए सरकार ने दस सूत्रीय मानक भी जारी किए हैं साथ ही निर्देश दिए हैं कि जो स्कूल खुद बच्चों के लिए कैंटीन चलाते हैंं उन्हें भी फूड अथारिटी से पंंजीकरण लेना होगा और यह शपथपत्र देना होगा कि वो जो कुछ भी बच्चों को खाने के लिए उपलब्ध कराएंगे वो स्वास्थ्य के मानकों के हिसाब से एकदम अव्वल दर्जे का होगा.

हालांंकि स्कूलों की कैंटीनो में समोसे, छोले-भटूरे, फ्रेंच फ्राइज़, गुलाब जामुन वगैरह बेच सकते हैं पर उन्हें बार-बार गरम करके तेल और शर्करा से भरपूर न किया गया हो और उनकी पोषकता बरकार रहे ये सुनिश्चित करना कैंटीन चलाने वाले की जिम्मेदारी होगी.

सीलबंद पैकेट भले ही किसी भी ब्रांड के हों पर उनमें पोषण तत्व कम न हो यह  सुनिश्चित करना स्कूलों की जिम्मेदारी होगी और इसे पूरा करने के लिए वो खोलकर फल और अन्य पोषण तत्व उसमें मिला सकते हैं.

स्कूलों को ये भी तय करना होगा कि बच्चे बहुत ज्यादा ऐसा खाना न खाएं और इन सब पर निगरानी रखने के लिए राज्य स्तर पर एक कमेटी बनाई जाएगी जो जिलोंं में भी अपना नेटवर्क तैयार करेगी.

फिलहाल इस ड्राफ्ट पर पांच दिसम्बर तक सभी सम्बन्धित पक्षों से आपत्तियां मांगी गई हैं जिसके बाद इसे अंतिम रूप दिया जाएगा.

Spread the love

Leave a Comment