Share
सीबीआई की दलील, बीमारी नहीं राजनीति के लिए जमानत चाहते हैं लालू

सीबीआई की दलील, बीमारी नहीं राजनीति के लिए जमानत चाहते हैं लालू

सीबीआई ने आज बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद की जमानत याचिका का यह कहते हुए पुरजोर विरोध किया कि वो बीमारी नहीं चुनावी सीजन में राजनीति में सक्रिय होने के लिए जमानत पर बाहर जाना चाहते हैं.

सीबीआई ने भी इस बात पर भी एतराज किया कि लालू अपनी याचिका में कह रहे हैं कि वो जेल में साढ़े तीन साल काट चुके हैं जबकि उन्होंने कुल चार महीने ही जेल में काटें हैं और पिछले साढ़े आठ महीनों से खुद को बीमार बताकर वो अस्पताल में भर्ती हैं.

जांच एजेंसी का कहना है कि उनकी हालत इतनी भी खराब नहीं हैे कि वो जेल में न रह सकें पर एक मामले में उन्हें सात साल की सजा हुई है पर उन्होंने एक दिन भी जेल में नहीं बिताया है.

सीबीआई का कहना है कि लालू देश के बड़े भ्रष्टाचार के मामलों में सजा याफ्ता हैं और साढ़े 75 करोड़ के चारा घोटाले के चार मामलों में वे दोषी साबित हो चुके हैं जबकि 139 करोड़ के दो मामलों में उनके खिलाफ मुकदमा चल रहा है, ऐसी हालत में उन पर रहम का मतलब भ्रष्टाचार को बढ़ावा देना भी हो सकता है.

Spread the love

Leave a Comment