Share
खड़गे बन सकते है मुख्यमंत्री पर कर्नाटक सरकार गिराने को भाजपा एक और टूट की तैयारी मे

खड़गे बन सकते है मुख्यमंत्री पर कर्नाटक सरकार गिराने को भाजपा एक और टूट की तैयारी मे

कर्नाटक में कांग्रेस और जनतादल सेकुलर  सरकार बचाने के लिए जहां मल्लिकार्जुन खड़गे को मुख्यमंत्री की कमान सौंप सकता ही वहीं शह और मात का खेल जारी रखते हुए भाजपा सत्ता पक्ष में एक और बड़ी टूट करवाकर सरकार बचाने की उम्मीदों पर पानी फेर सकती है.

उल्लेखनीय है सत्ता पक्ष के 11 से ज्यादा  विधायकों को तोड़ने के बाद अब भाजपा अब दूसरी खेप में दस और विधायकों को तोड़कर सरकार पर आखिरी चोट दे सकती है.

इस बारें में  भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा से जब पूछा गया तो उनका कहना था कि हम कोई सन्यासी तो हैं नहीं कि सरकार बनने का मौका मिलने पर भी नकरा देंगे पर अभी सभी को इंजार करना चाहिए क्योंकि कुछ और अप्रत्याशित घटने वाला है.

उधर विधानसभा अध्यक्ष के सामने इस्तीफे देकर राज्य में भाजपा की सरकार बनाने का रास्ता साफ करने वाले सत्ता पक्ष के सभी 11 विधायकों को मुम्बई के आलीशान होटलों में ठहराया गया है.

उधर सरकार बचाने की कोशिश में कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया  और राज्य प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने विद्रोही विधायकों के नेता रामलिंगा रेड्डी से बात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि उनकी बातें गम्भीरता से सुनी जाएगीं पर अब तक की खबरों के अनुसार बगावती विधायकों के रुख में किसी तरह की नर्मी का संकेत नहीं है.

उधर खबर है कि कांग्रेस के आला नेताओं की आज पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगोड़ा और मुख्यमंत्री कुमार स्वामी सहित अन्य शीर्ष नेताओं से भी बातचीत हुई जिसमें जनता दल सेकुलर अब राज्य.में भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए मल्लिकार्जुन खड़गे को राज्य का नया मुख्यमंत्री स्वीकार करने को तैयार हो गई है.

खबर है कि एच डी देवगोड़ा ने खुद कांग्रेस नेता सोनिया गांधी को फोन करके इस तरह की पेशकश की है कि भाजपा को रोकने के लि जो भी किया जाएगा वो इसके लिए तैयार है.

इधर कांग्रेस के भीतर माना जा रहा है कि पार्टी आला कमान अपने राज्य के नेताओं से बहुत नाराज है जो समय रहते विधायकों की नाराजगी नहीं समझ सकी और पूरी सरकार को दांव पर लगा दिया.

बहरहाल सत्ता पक्ष ने भी तय किया है कि  अगर सारी स्थितियां खिलाफ चलीं गईं तो भी तमिलनाडु की तरह विधानसभा अध्यक्ष बागी विधायकों का इस्तीफा खारिज करके भाजपा की सारी योजना को पलीता लगा सकती है.

Spread the love

Leave a Comment