Share
विरोध के चलते रिलायंस का कांट्रैक्ट रद्द

विरोध के चलते रिलायंस का कांट्रैक्ट रद्द

भारी विरोध के कारण रिलायंस ग्रुप की कम्पनी को जम्मू-कश्मीर के कर्मचारियों को मेडिकल इंश्योरेंस देने के लिए समझौता जिस तेजी से किया गया था, उसे तेजी  से समाप्त भी कर दिया गया है.

रिलायंस की कम्पनी रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कम्पनी को यह कांट्रैक्ट मौजूदा राज्यपाल सत्यपाल  मलिक के बीस सितम्बर को कार्यभार सम्भालने के दस दिनों बाद ही बेहद हड़बड़ी में पहली अक्टूबर को दे दिया गया था.

अब इन्ही गवर्नर ने कहा है कि राज्य के कर्मचारी इस कम्पनी को उनके मेडिकल इंश्योरेंस का ठेका दिए जाने से खुश नहीं थे और इसके लिए कम्पनी ने कुछ फर्जी बाड़ा भी किया है इसलिए वो इले रद्द कर रहे है औऐर इसकी विजलेंस जांच भी कराई जाएगी.

उनका कहना है कि रिलायंस का नाम किसी अन्य कम्पनी के जरिए आया था ,सरकार ने उसे तय नहीं किया था.

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर के सभ कर्मचारियो के लिए अनिवार्य इस बीमा योजना में  कर्मचारियों और पेंशनधारकों को क्रमश: 8777 रुपये और 22229 रुपये का सालाना प्रीमियम देना था.

इसके लिए टेंडर  ट्रिनिटी ग्रुप ने  निकाले थे और आरोप है कि रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी को मौका देने के लिए शर्तों में बदलाव किए गए थे.

शुरू से ही विवादों में रही इस मेडीक्लेम पालिसी के लिए विज्ञापन तो फरवरी में निकाले गए थे पर तू राज्य में भाजपा-पीडीपी की मिसलीजुली सरकार थी जिसने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया था पर जब राज्यपाल शासन लगा तो नए राज्पाल ने इसे हड़बड़ी में लागू कर दिया,

 

Spread the love

Leave a Comment