Share
मोदी  नहीं मायावती बन सकती हैं एनडीए की प्रधानमंत्रीः सुब्रहमण्यम स्वामी

मोदी नहीं मायावती बन सकती हैं एनडीए की प्रधानमंत्रीः सुब्रहमण्यम स्वामी

भाजपा नेता सुब्रहमण्यम स्वामी का मानना है कि इस बार देश में कोई मोदी लहर नहीं है और इस लिहाज से अगर भाजपा 230 सीटों के आसपास ही जीत पाती है तो फिर दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने का सफर नरेन्द्र मोदी के लिए बहुत मुश्किलों भरा होगा.

अंग्रेजी वेब पोर्टल हफिंगटन पोस्ट की पत्रकार बेतवा शर्मा से बातचीत करते हुए स्वामी ने स्वीकार किया कि चौथे चरण के मतदान के बाद अब लगने लगा है कि इस बार 2014 के मुकाबले भाजपा 50 से 60 सीट कम जीतेगी फिर भी हम उम्मीद कर सकते हैं कि चुनाव में गया सबसे बड़ा गठबंधन होने के नाते एनडीए को ही सरकार बनाने के लिए बुलाना राष्ट्रपति की मजबूरी है.

उनके अनुसार भले ही एक बार फिर भाजपा की सरकार बनना लगभग तय हो पर मोदी ऐसी हालत में प्रधानमंत्री दोबारा बनेंगे या नहीं ये सहयोगी दल तय करेगे जो मोदी से खासे नाराज चल रहे हैं.

स्वामी यह भी मानते हैं कि मोदी ने राम मंदिर निर्माण की बजाए हिन्दुत्व को चुनावी एजेंडे पर रखने का फैसला किया क्योंकि वो जिद्दी हैं और फैसले लेने में आत्म केंद्रित है जो पहले तो काम करता लग रहा था पर अब उतना असर नहीं दिखा पा रहा.

उनका मानना है कि इसके बाद भी अगर अयोध्या में अपनी होने वाली रैली में मोदी सिर्फ इतना कह दें कि अगली बार प्रधानमंत्री बनने पर वो मंदिर बनाने का गारंटी देते हैं तो बात बदल सकती है पर वो ऐसा करेगे नहीं यानि मोदी के लिए पीएम पद को लेकर दिक्कतें रह सकती हैं.

तो फिर कौन पीएम बन सकता है इस सवाल के जवाब में स्वामी कहते हैं कि मायावती खुद को थोड़ा भी बदल ले तो वे बन सकती हैं वैसे भी चुनाव बाद तो उन्हें एनडीए का हिस्सा होना ही है.

पर स्वामी यह कतई नहीं कह रहे कि बसपा सुप्रीमो मायावती सपा मुखिया अखिलेश यादव को धोखा देने जा रहे हैं… उनका तो कहना है कि सपा-बसपा दोनो एनडीए का हिस्सा होंगे और अगर नितिन गडकरी नहींं तो मायावती भी अगली प्रधानमंत्री हो सकती है और अपनी इस बात के पक्ष में वो तर्क देते हैं कि किस तरह मुलायम सिंह यादव ने मोदी को अगली बार फिर सरकार बनाने के लिए शुभकामनाएं दी थीं यानि सपा तो पहले से भाजपा के करीब आने का मन बना चुकी है.

Spread the love

Leave a Comment