Share
असम में मोदी का ऐतिहासिक विरोध, बंदिशे तोड़ पुतले फूंके

असम में मोदी का ऐतिहासिक विरोध, बंदिशे तोड़ पुतले फूंके

नागरिकता बिल को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का असम में जितना जबरदस्त विरोध हो रहा है उतना तो शायद अब तक किसी का नहीं हुआ.

हालत यह है कि पीएम जहां असम में रैली करने वाले हैं वहीं विपक्षियों को रोकने के लिए पूरे राज्य में निषेधाज्ञां लागू कर दी गई है फिर भी लोगों ने इसे तोड़ते हुए पीएम की रैली के विरोध में उनके पुतले जलाने और काले झंडे दिखाने का ऐलान किया है जिससे निपटने के लिए राजधानी गुवाहाटी में तो किसी भी प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई है.

उधर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई, आल असम स्टूडेन्ट्स यूनियन (आसू) ने पूरे राज्य में निषेधाज्ञा तोड़कर प्रदर्शन करने का ऐलान किया है.

दो दिनों के पूर्वांचल दौरे पर गए पीएम ने आज जहां अरुणाचल प्रदेश को ईटानगर में नए हवाई अड्डे की सौगात दी वहीं कई अन्य परियोजनाओं की भी आधार शिला रखी.

लेकिन असम का माहोल एकदम अलग है जहां कल भी उन्हें दो जगहों पर काले झंडे दिखाए गए और वापस जाओ के नारों से उनका स्वागत हुआ.

प्रधानमंत्री जब गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से राजभवन की ओर जा रहे थे, उस समय गुवाहाटी में आसू के सदस्यों ने और गुवाहाटी विश्वविद्यालय के करीब  कृषकमुक्ति संग्राम  गुट ने भी उन्हें काले झंडे दिखाए.

Spread the love

Leave a Comment