Share
पहली सूची से अखिलेश का संदेश, पिता समेत पूरा परिवार  साथ

पहली सूची से अखिलेश का संदेश, पिता समेत पूरा परिवार साथ

पहली सूची से अखिलेश यादव का संदेश, पिता मुलायम साथ तो बागियों की क्या औकात..

Spread the love

समाजवादी पार्टी की ओर से जिस तरह कुल छह नामों की पहली सूची जारी की गई है उससे साफ है कि इस सूची के जरिए पार्टी काडर और वोटरों को ये साफ संदेश देने की कोशिश की गई है पिता मुलायम सिंह यादव समेत पूरा परिवार अखिलेश यादव के साथ है और परिवार के बागी को हर ओर से खारिज किया जा चुका है.

जाहिर है कि पहली सूची में सुरक्षित सीटों को छोड़ दें तो जो तीन अन्य नाम जो भी है वो मुलायम परिवार के ऐसे नाम है जिनका ऐलान अगर आखिर तक भी न किया जाता तो भी उनकी सीटों से किसी और की तो दावेदारी हो ही नहीं सकती.

इस पहली सूची से परिवार के लिए सबसे सुरक्षित मैनपुरी सीट से पिता मुलायम सिंह यादव को उम्मीदवार घोषित करवाकर अखिलेश यादव ने यह जताने की कोशिश की है कि पिता कहीं और नहीं पूरी तरह उनके साथ है और बीच बीच में जो उलझने वाली बातें मसलन चाचा शिवपाल के मंच पर चले जाना या संसद में मोदी को फिर से पीएम बनने की शुभकामना देना वगैरह वो सब उनका बुजुर्गियत का असर है.

वैसे भी मैनपुरी ऐसी सीट है जिसपर मुलायम सिंह 2004 से जीतने की हैट्रिक बना चुके हैं वो अलग बात है कि अपने ऐलान के तहत 2014 में इस सीट के साथ ही जीती गई आतजमगढ़ सीट उन्होंने अपने पास रखी थी और मैनपुरी सीट छोड़ दी थी.

उसके बाद भी मैनपुरी उम्र के इस पड़ाव में उनके लिए सबसे बेहतर सीट मानी जा रही है जिसे जीतने में उन्हें कोई खास पसीना नहीं बहाना पड़ेगा.

बाकी जिन दो पारिवारिक सीटों का ऐलान आज सपा महासचिव राम गोपाल यादव ने दिल्ली में किया है वो परिवार के दोनो सदस्यों की सिटिंग और पुरानी सीट है जिसमेंं एक अखिलेश यादव के चचेरे भाई धर्मेन्द्र यादव की बदायूं सीट है जिसे वो तीन बार से लगातार जीत रहे हैं और दूसरी है दूसरे चचेरे भाई और चाचा रामगोपाल के बेटे अक्षय यादव की फिरोजाबाद सीट.

इसके अलावा जिन तीन सीटों पर प्रत्याशी घोषित किए गए है वो हैं इटावा (सुरक्षित) सीट जिस पर कमलेश कठेरिया को, रॉबर्ट्सगंज (सुरक्षित) सीट जिसपर भाईलाल कोल को और बहराइच (सुरक्षित) सीट जिसपर शब्बीर बाल्मिकी को प्रत्याशी घोषित किया गया है.

Spread the love

Leave a Comment