Share
आत्महत्या नहीं संघर्षः किसानों का अब दिल्ली में डेरा

आत्महत्या नहीं संघर्षः किसानों का अब दिल्ली में डेरा

पूरे देश से एक लाख से ज्यादा किसान अपने अपने राज्यों से निकलकर पैदल मार्च करते हुए 29 नवम्बर को  दिल्ली के राम लीला मैदान मे इकठ्ठा होना शुरु हो जाएंगे और अगले दिन  एक लाख से ज्यादा किसान लांग मार्च करते हुए संसद की और कूच करेगे.

ये किसान कोई दो सौ संगठनों के संयुक्त मंच अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले दिल्ली पहुंच रहे हैंं और इनका दो सबसे खास  मांग है पहली किसानो की समस्याओं पर ढंग से विचार करने के लिए 21 दिन का संसद का संयुक्त बुलाया जाए और दूसरा लोकसभा में लम्बित दो बिल पास किए जाएं जिसमें एक किसानों की कर्जा मुक्ति और दूसरा उन्हें फसल की उचित कीमत दिए जाने से हैं पर दोनो ही साल भर से ज्यादा समय से लटके हुए हैं.

इस मार्च में किसानों  के साथ खेतिहर मजदूर भी शामिल है और  इनके संगठन  का  नारा  ही है किसान आत्महत्या से मुक्त भारत और  सबको भरपूर और जहर मुक्त भोजन.

वहीं मीडिया का एक तबका ऐसा भी है जो शुरु होने से पहले ही किसानों के इस आंदोलन को कम्युनिस्ट पार्टियों से जोड़कर उसे खारिज करने में लग गया है.

 

Spread the love

Leave a Comment