Share
देर से सही पर नमो चैनल पर लगी रोक, पर लगातार झूठ बोलती रही भाजपा

देर से सही पर नमो चैनल पर लगी रोक, पर लगातार झूठ बोलती रही भाजपा

भले ही देर से पर दुरुस्त फैसला लेते हुए चुनाव आयोग ने आखिरकार भाजपा के प्रचार को समर्पित नमो चैनल पर आम चुनाव निपटने तक के लिए रोक लगा दी पर आखिर तक इस चैनल को लेकर भाजपा लगातार घुमाने वाली बातें ही करती रही.

शुरु में राजनीतिक दलो ने जब आचार संहिता लागू होने के बाद 31 मार्च को शुरू हुए इस चैनल की चुनाव आयोग से शिकायतें की और आयोग ने इस चैनल के स्वामित्व के बारे में जानकारी मांगी तो यह बताया गया कि ये चैनल किसका है और किस सेटेलाइट से इसका प्रसारण हो रहा है इसकी सरकार के पास कोई जानकारी नहीं है.

बाद में जब विवाद बढ़ा और ये सवाल उठाए जाने लगे कि किसी चैनल को प्रसारण शुरू करने के लिए जो सरकारी औपचारिकताएं करनी ही होती है उसके किए बिना इसे फ्रीक्वेंसी कैसे एलाट की गई तो सरकार तंत्र की ओर से सफाई आई कि ये सेटेलाइट चैनल नहीं है सिर्फ विज्ञापन का प्लेटफार्म है जो देश के प्रमुख डीटीएच सेवाएं देने वाली कम्पनियों के जरिए प्रसारित किया जा रहा है.

लेकिन इसके बाद भी भाजपा ने यह तो आज तक भी नहीं बताया है कि इसे चलाने वाली कम्पनी कौन है पर बाद में टाटा स्काई से बाकायदा बयान जरूर जारी करवाया गया कि ये न्यूज चैनल नहीं है जबकि इसी टाटा स्काई ने महज दो दिन पहले ही अपने पहले ट्वीट में कहा था कि ये न्यूज चैनल है

अजीब बात है कि इस चैनल पर भी न सिर्फ दूसरे चैनलों की तरह सबसे नीचे घड़ी मौजूद रहती थी बल्कि खबरों का टिकर यानी फ्लैश करती हुई खबरें भी दिखाई जाती थीं जो इसे न्यूज चैनल की तरह स्थापित करती थीं पर इस चैनल पर कोई एंकर पर्दे पर कभी नहीं आता .

इस चैनल के बारे में जब टीवी और रेडियो चैनलों की अपलिंकिंग का डेटा रखने वाली वेबसाइट लिंगसेट को खंगाला गया तो पता चला कि ये बाकायदा सेटेलाइट चैनल है जो एन एसएस छह सेटेलाइट से प्रसारित हो रहा है जिससे अपलिंकिंग के लिए फ्रीक्वेंसी तो सरकार ने ही अलाट की होगी.

इसके बाद चुनाव आयोग ने सख्त रुख अपनाते हुए दिल्ली के चुनाव अधिकारी से पूछा था कि इस पर जो विज्ञापन दिखाए जा रहे हैं क्या नियमों के तहत उन्हें प्रसारित करने से तीन दिन पहले उनकी अनुमति ली गई है और लगता है कि इसी को आधार बनाकर इस चैनल का प्रसारण तुरंत प्रभाव से रोकने के आदेश चुनाव आयोग ने दिए हैं.

Spread the love

Leave a Comment