Share
क्या चुनावी जीत हत्या करने का लाइसेंस भी देती है- शशि थरूर

क्या चुनावी जीत हत्या करने का लाइसेंस भी देती है- शशि थरूर

तिरुवनन्तपुर से कांंग्रेस के सांसद शशि थरूर ने सवाल उठाया है कि क्या एक चुनावी जीत कुछ लोगों को इतनी ताकत दे सकती है कि उन्हें किसी की भी हत्या करने का लाइसेंस मिल जाए.

पुणे अंतरराष्ट्रीय साहित्य महोत्सव  में हुए एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने गौ हत्या के नाम पर लोगों की जान लेने को लेकर केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि अब भारत को ऐसा देश बना दिया गया है जहां सहिष्णुता औ सौहार्द के लिए कोई जगह नहीं है… आपको या तो इस पार खड़ा होना होगा याा उस पार.

उन्होंने कहा कि गाय पवित्र हो सकती है पर उसके लिए  मानव-हत्या कैसे जायज हो सकती है और मुझे याद आ रहा है कि इसकी शुरुआत  मोहसिन शेख से हुई  फिर दादरी मेंं अखलाक को और फिर पहलू खान को मारा गया और फिर तो ये सिलसिला  रुक ही नहींं रहा.

उन्होंने कहा कि अखलाक को इसलिए मारा गया कि शक था कि वो गोमांस ले जा रहा था जबकि बाद में साबित हुआ कि वो गौमांस नहीं था पर अगर गौमांस होता भी तो कुछ लोगों को किसी को मार डालने का हक किसने दिया.

इसी तरह पहलू खान तो डेरी के लिए जानवर खरीदकर ले जा रहा था उसके पास कागज भी थे पर उसेे भी मार दिया गया क्या इस तरह लोगों की जान लेन वाले हिन्दू कहे जा सकते हैं.

अपनी किताब वाई आई एम हिन्दू का जिक्र करते हुए उन्होंन कहा कि संघ परिवार को यह समझना पड़ेगा कि राम की रोज पूजा करने वाला या उन्हें न पूजने वाला दोनो हिन्दू हैं और जय श्रीराम न कहने पर लोगों को मारकर कोई हिन्दू नही हो सकता क्योंकि ये हिन्दू धर्म का अपमान है…. भगवान राम ने कभी नहीं कहा कि उनका नाम न लेने वाले को मार दिया जाए.

Spread the love

Leave a Comment