Share
वित्त मंत्री मंदी पर मारुति तक नहीं मानती आपकी दलील

वित्त मंत्री मंदी पर मारुति तक नहीं मानती आपकी दलील

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कम्पनी मारुति का मानना है कि ओला-उबर की कार उद्योग की मंंदी में कोई खास भूमिका नहीं है और इस बारे में ज्यादा अध्ययन और विश्लेषण किया जा सकता है.

उल्लेखनीय है कि देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ओला उबर जैसी टैक्सी सर्विस को देश की कार उद्योग की मंदी के लिए सीधे जिम्मेदार बताते हुए कहा था कि इनके कारण ही लोगों में कार खरीदने की जरूरते घटी हैं और लोग बैंक की किश्ते देने की बजाए इन टैक्सियो में सफर करना ठीक समझते हैं.

मारुति के सेल्स महाप्रबंधक शशांक श्रीवास्तव का कहना है कि ओला-उबर तो देश में छह सात साल से काम कर रही है पर यह मंदी दो डेढ़ दो साल से है इसलिए इन सर्विसेज को जिम्मेजदार करार देने की बजाए यह देखा जाना चाहिए कि ऐसा क्या हुआ कि कार उद्योग अब बिलकुल पटरी से उतरता लगने लगा है और इतने बड़े पैमाने पर लोगों की नौकरियां जा रही हैं.

Spread the love

Leave a Comment