Share

मुलायम को क्लीन चिट, अमिताभ ठाकुर पर चलेगा मुकदमा

यूपी पुलिस ने एक बड़े पुलिस अफसर को धमकाने के मामले में सपा के शीर्ष नेता मुलायम सिंह यादव को क्लीन चिट देकर उल्टे झूठा आरोप लगाने वाले आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर पर ही मुकदमा चलाने की कोर्ट से इजाजत मांगी है.

इस बारे में की गई जांच की फाइनल कापी उत्तर प्रदेश पुलिस की तरफ से आज सीजेएम की अदालत में दाखिल कर दी गई है और अगर अदालत भी पुलिस की दलील से सहमत होती है तो बवाल मचाने वाले आईजी अमिताभ ठाकुर को छह महीने तक की जेल और जुर्माना हो सकता है.

अपनी अंतिम रिपोर्ट में पुलिस ने अदालत को बताया है कि उसे अमिताभ ठाकुर की इस शिकायत का एक भी सबूत नहीं मिला कि उस  समय के सपा मुखिया ने अफसर को किसी फोन पर धमकाया या अपशब्द कहे.

पुलिस का तर्क है कि इसलिए अब झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए इस पुलिस अफसर के खिलाफ ही मुकदमा चलाया जाना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि अमिताभ ठाकुर ने 10 जुलाई 2015 को हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराकर आरोप लगाया था कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने उन्हें फोन पर धमकी दी.

पुलिस ने इस मामले को जांच के बाद खत्म करते हुए अक्टूबर 2015 में अंतिम रिपोर्ट लगाई तो ठाकुर ने इसे ही अदालत में चुनौती दे डाली.

अदालत ने 20 अगस्त 2016 को इस   रिपोर्ट को खारिज करते हुए पुलिस को नए सिरे से  जांच करने के आदेश दिए और पुलिस ने  मुलायम की आवाज का सैम्पल लेकर कॉल रिकॉर्डिंग की पड़ताल की है.

उधर   मुलायम सिंह यादव ने   कहा था कि उन्होंने एक बुजुर्ग होने के नाते ठाकुर से बात की थी  उन्हें धमकाया नहीं थी

 

Spread the love

Leave a Comment