Share
चीफ जस्टिस भी हैरान कैसे बदल गईं  मुकदमें की तारीखें

चीफ जस्टिस भी हैरान कैसे बदल गईं मुकदमें की तारीखें

देश के मुख्य न्यायाधीश भी हैरान है कि आखिर राफेल मामले की फिर से सुनवाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका की तारीखे बिना उनकी जानकारी के कैसे बदल गईं.

दरअसल चीफ जस्टिस रंजन गोगोआई ने खुद कहा था कि इन दोनों मामलों की सुनवाई एक साथ होगी पर अब वो खुद आश्चर्यचकित हैं कि दोनों मामलों में अलग- अलग तारीखें कैसे लग गई हैं.

उल्लेखनीय है कि वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण की ओर से राफेल मामले में दाखिल रिव्यू याचिका में शीर्ष अदालत से अपने उस फैसले पर फिर से विचार करने की मांग की गई है जिसमें फ्रांसीसी विमानन फर्म दसॉल्ट के साथ हुए 36 राफेल विमान सौदे में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई है क्योंकि नए दस्तावेज अब कुछ और ही कहानी कह रहे हैं.

वहीं दूसरा मामला राहुल गांधी के खिलाफ अपमानना से जुड़ा है जिसमें उन्होंने अपने चौकीदार चोर है के नारे में सुप्रीम कोर्ट के हवाले से वो कह दिया जो अदालत ने कहा ही नहीं.

दरअसल, 30 अप्रैल को जस्टिस गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने दोनों मामलों की सुनवाई सोमवार को करने की बात कही था पर बाद में सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर जानकारी दी गई कि सोमवार को राफेल पुनर्विचार याचिका पर और दस मई को राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका पर सुनवाई की जाएगी.

जस्टिस एसके कौल और केएम जोसेफ की पीठ ने अब 10 मई की दोपहर दो बजे दोनों मामलों को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध कर लिया है.  



Spread the love

Leave a Comment