Share
सीबीआई विवाद पर सुनवाई शुरु होते  ही भड़क उठे चीफ जस्टिस

सीबीआई विवाद पर सुनवाई शुरु होते ही भड़क उठे चीफ जस्टिस

सीबीआई विवाद की सुनवाई शुरु होते ही चीफ जस्टिस रंजन गोगोई इतने भड़क गए कि उन्होंने यह कहकर कि आप लोग सुनवाई के लायक नहीं हैं मामले की सुनवाई चंद मिनटों में ही 29 नवम्बर तक के लिए टाल दी.

उल्लेखनीय है कल इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट इतना गम्भीर था कि उसने अनुरोध किए जाने पर भी एक दिन के लिए सुनवाई टालने से इन्कार कर दिया था.

आज मंगलवार को सुनवाई शुरु होते ही चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सीबीआई अफसर आलोक वर्मा के वकील फली नरीमन को मीडिया रिपोर्ट थमाते हुए पूछा कि आलोक वर्मा ने तो सीलबंद लिफाफे में  रिपोर्ट दी थी फिर ये  मीडिया में कैसे लीक हुई.

इसपर  वकील नरीमन ने कहा कि उन्हें भी नहीं मालूम की रिपोर्ट कैसे लीक हुई लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है और लीक करने वाले को अदालत में तलब करना चाहिए.

नरीमन ने कहा कि प्रेस को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए और उसकी आजादी और  जिम्मेदारी साथ साथ चलनी चाहिए.

इसके बाद चीफ जस्टिस ने पूछा कि जब आलोक वर्मा को सोमवार को ही जवाब दाखिल करना था तो वह और समय क्यों मांग रहे थे जिस पर उनके वकीस नरीमन ने कहा कि उन्हें इसकी भी जानकारी नहीं है.

इसके बाद चीफ जस्टिस ने भड़कते हुए कहा कि आप में से कोई भी आज सुनवाई के लिए डिजर्व नहीं करता इसलिए सुनवाई 29 नवंबर तक टाली जाती है.

एक दूसरे पर गम्भीर आरोप लगा रहे सीबीआई  के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना और आलोक वर्मा  दोनों को केंद्र ने यह कहकर छुट्टी पर भेज दिया है कि इनके रहते जांच प्रभावित होगी जबकि इस मामले की जांच  केंद्रीय सतर्कता आयोग कर रहा था.

बीते 12 नवंबर को सीवीसी ने कोर्ट को जांच रिपोर्ट सौंप दी थी, जिस पर कोर्ट ने आलोक वर्मा का जवाब बंद लिफाफे में मांगा था.

 

Spread the love

Leave a Comment