Share
पांच साल के रिटर्न  के साथ विदेशी सम्पत्तियों का ब्योरा देना होगा प्रत्याशियों को

पांच साल के रिटर्न के साथ विदेशी सम्पत्तियों का ब्योरा देना होगा प्रत्याशियों को

अब लोकसभा प्रत्याशियों को एक साल नहीं बल्कि पांच साल के इंकम टैक्स रिटर्न के साथ विदेशी सम्पत्तियों का पूरा ब्योरा भी नामांकन के साथ दाखिल करना होगा.

कानून और न्याय मंत्रालय ने कल जारी एक अधिसूचना में प्रत्याशियों द्वारा दाखिल किए जाने वाले फार्म 26 के प्रारूप मेंं बदलाव कर दिया है.

इस संशोधन के तहत प्रत्याशियों को अपनी आय के साथ ही अपनी देनदारियां, शैक्षिक योग्यता और अगर कोई आपराधिक रिकार्ड है तो उसका विवरण पहले की ही तरह देना अनिवार्य होगा पर अब एक साल की बजाए पांच साल के आयकर रिटर्न का ब्योरा दाखिल करना होगा.

अब विदेशी सम्पत्तियों की परिभाषा भी तय कर दी गई है जिसके तहत अपनी और अपने आश्रितों के विदेशी बैंक अकाउंट या दूसरे वित्तीय संस्थानों में जमा रकम और परिसम्पत्तियों का ब्योरा देना होगा.

Spread the love

Leave a Comment