Share
इसी साल 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी से भी सरकारी कम्पनी बीएसएनएल बाहर

इसी साल 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी से भी सरकारी कम्पनी बीएसएनएल बाहर

 सरकार इसी साल के मध्य तक देश में मोबाइल इंटरनेट की पाच जी सेवाएं शुरु करने के लिए स्पेक्ट्रम की नीलामी करने जा रही है पर देश में मोबाइल सेवाओं का सबसे बड़ा ढांचा रखने के बाद भी सरकारी बीएसएनएल कम्पनी इस नीलामी से बाहर ही रहेगी.

उल्लेखनीय है कि बीएसएनएल इससे पहले भी 4जी स्पेक्ट्रम मेंं भाग नहीं ले सका था जिससे अन्य निजी कम्पनियों के मुकाबले वो बाजार में लगातार पिछड़ती ही जा रही है.

बहरहाल इस बार बीएसएनएल 5 जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में इसलिए भाग नहीं ले पा रही है क्योंकि उसके सामने स्वैच्छिक सेेवानिवृत्ति से अपने कर्मचारियों का बोझ कम करने के लिए अगले कुछ महीनों के भीतर ही कोई एक लाख करोड़ का भुगतान करने की चुनौती है.

यह भी सही है कि अपने कर्मचारियों से छुटकारा पाने के बाद इस सरकारी कम्पनी के खर्चे कम हो जाएंगे पर इसका सीधा असर उसके बाजार में टिके रहने की क्षमता पर भी पड़ने जा रहा है जो पांच जी के दौर में भी तीन जी स्पेक्ट्रम पर टिके रहने से वैसे ही काफी कमजोर हो चुकी है.

वैसे एक खबर यह भी है खुद बाहर होकर भी शायद बीएसएनएल अपने सहयोगी कैलीफोर्निया की सियाना कम्पनी को इसमें भाग लेने के लिए प्रोत्साहित कर सकती है.

 

Spread the love

Leave a Comment