Share
अयोध्या विवाद पर 17 नवम्बर के बाद कभी भी फैसला-सुप्रीम कोर्ट

अयोध्या विवाद पर 17 नवम्बर के बाद कभी भी फैसला-सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने आज साफ कर दिया कि अयोध्या विवाद का फैसला 17 नवम्बर के बाद कभी भी आ सकता है क्योंकि सभी पक्षों ने जो आकलन पेश किया है उसके अनुसार इस तारीख तक सभी की दलीलें पूरी हो जाएंगी.

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने कहा कि सुनवाई को इस तय समय सीमा में निपटाने के लिए हर दिन जरूरी हुआ तो हम सुनवाई के लिए अतिरिक्त समय देंगे और जरुरी हुआ तो शनिवार को भी सुनवाई करेंगे.

सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस अब्दुल नजीर की पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने आज यह भी व्यवस्था दी कि अदालती कार्रवाई के साथ अगर दोनो पक्ष चाहें तो बातचीत से विवाद का हल निकालने की कोशिश कर सकते हैं इसमें कोई बाधा नहीं है.

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित मध्यस्थता आयोग के असफल होने के बाद सुप्रीम कोर्ट इस मामले की छह अगस्त से दैनिक आधार पर सुनवाई कर रहा है और 17 नवम्बर को ही मौजूदा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं और माना जा रहा है कि वो अवकाश ग्रहण करने के पहले वे इस मामले को निपटा देना चाहते हैं.

Spread the love

Leave a Comment