Share
ट्रम्प को चिढ़ाते हुए रूस ने पांच जी नेटवर्क  का काम चीनी की हुवाई कम्पनी को सौंपा

ट्रम्प को चिढ़ाते हुए रूस ने पांच जी नेटवर्क का काम चीनी की हुवाई कम्पनी को सौंपा

चीन की जिस हुवाई कम्पनी को अमेरिका के ट्र्म्प प्रशासन ने अपने यहां के जासूसी कांड में शामिल मानकर उसके फाइनेंस अफसर को गिरफ्तार करने का फरमान जारी किया था वही कम्पनी अब प्रतिद्वन्दी देश रूस में 5-जी नेटवर्क बिछाने का काम करेगी.

अमेरिका ने तो न सिर्फ अपने यहां डाटा चुराने के आरोप में चीन की इस सबसे बड़ी कम्पनी को न सिर्फ प्रतिबंधित कर दिया है बल्कि यह भी सार्वजनिक तौर पर ट्रम्प प्रशासन द्वारा ऐलान किया गया था कि इस कम्पनी के कई अफसर जो कनाडा में किसी  मामले में गिरफ्तार  हुए हैं उन्हें प्रत्यार्पण कराके अमेरिका लाया जाएगा.

लेकिन चीन अपनी इस कम्पनी के साथ  हमेशा मजबूती से खड़ा रहा यही वजह है कि रूस के सरकारी दौरे पर गए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने रूस के राष्ट्रपित व्लादिमीर पुतिन के साथ बातचीत में  रूस में आधुनिकतम नेटवर्क का जाल  बिछाने का काम अपनी इस कम्पनी को दिलवाने को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखा था.

उल्लेखनीय  है कि अमेरिका का आरोप है कि दुनिया में स्मार्ट फोन बनाने वाली इस कम्पनी के फोन में ऐसा साफ्टवेयर है जिससे संवेदनशील जानकारी चीन तक पहुंच जाती है हालांकि मई में मचे इस हंगामें के बाद हुवाई कम्पनी ने अमेरिका समेत कई देशों के सामने गुप्तचरी विहीन मोबाइल फोन बेचने के एक समझौते पर दस्तखत की पहल भी की थी पर चीन और अमेरिका की तनातनी में इस पर आगे कोई बातचीत नहीं हो सकी.

Spread the love

Leave a Comment