Share

मोदी के कहने पर एम जे अकबर ने दिया इस्तीफा ?

मी टू अभियान में एक दर्जन से ज्यादा महिलाओ द्वारा यौन शोषण का आरोप  लगाने के बाद आखिरकार  विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने आज इस्तीफा दे दिया.

उन्होंने एक लिखित बयान जारी करके इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि  उनपर जो भी आरोप लगे हैं वे सब झूठे हैं और वे इनके खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ते रहेंगे.

बयान में उन्होंने कहा है ‘मैं, अपने खिलाफ लगे आरोपों को निजी तौर पर चुनौती दूंगा इसलिए मैं विदेश राज्य मंत्री पद से त्यागपत्र देता हूं.’

उन्होंने कहा ‘मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बेहद आभारी हूं कि उन्होंने मुझे देश की सेवा करने का अवसर दिया.”

बताया जा रहा है कि अकबर का इस्तीफा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर हुआ है.

प्रिया रमानी ने एमजे अकबर के इस्तीफे के बाद कहा कि इस्तीफे से यह साबित हुआ कि हमारे आरोप सही थे.

उनके इस्तीफे को कांग्रेस ने सही  ठहराया तो राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा नेभी  कहा कि  जब तक  जांच नहीं हो जाती उन्हें पद पर नहीं रहना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि सबसे पहले एशियन एज अखबार में उनकी जूनियर रही  पत्रकार प्रिया रमानी ने उनपर यौन शोषण का आरोप लगाया था और उसके बादअब तक 19 महिलाएं ऐसे ही आरोपों के साथ सामने आ चुकी हैं और ये सारे आरोप उस वक्त के हैं जब एमजे अकबर एशियन एज के संपादक थे.

Spread the love

Leave a Comment