Share
सुप्रीम कोर्ट का भाजपा को बड़ा झटका, शनिवार को होगा फ्लोर टेस्ट और गुप्त मतदान भी नहीं

सुप्रीम कोर्ट का भाजपा को बड़ा झटका, शनिवार को होगा फ्लोर टेस्ट और गुप्त मतदान भी नहीं

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक को लेकर भाजपा को बड़ा झटका देते हुए निर्देश दिया है कि 15 दिन नहीं उसे कल शाम चार बजे तक सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा,

इस मामले में अदालत  ने महाधिवक्ता की एक न सुनी जो बहुमत साबित करने के लिए कुछ ज्यादा समय दिए जाने की मांग कर रहे थे.

आज हुई सुनवाई में कांग्रेस के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि अगर उनके गठबंधन को फ्लोर टेस्ट के लिए कहास जाता है तो वह शनिवार को ही सदन में अपना बहुमत साबित करने को तैयार है जबकि महाधिवक्ता भाजपा के लिए लगातार बहुमत के परीक्षण के लिए एक सप्ताह का समय दिए जाने की मांग कर रहे थे.

सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई शुरु होते ही भाीजपा के वकील मुकुल रोहतगी ने अदालत  को राज्यपाल को पार्टी द्वारा सरकार बनाने का दावा करते हुए हुई चिट्ठी सौंपी.

 

इस  पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अब तो हमारे पास दो ही विकल्प हैं पहला हम राज्यपाल को सौेंपी गई चिट्ठी की पूरी जांच करें या फिर तुरंत बहुमत का परीक्षण करा लें.
उल्लेखनीय है कि नए मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने राज्यपाल से बहुमत साबित करने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा था पर राज्यपाल ने उन्हें अपनी तरफ से 15 दिन का समय दे दिया था जिस पर आरोप लगाया जा रहा था कि इतना समय भाजपा को जोड़तोड़ बिठाने के लिए दिया गया है.
सुनवाई के दौरान कांग्रेस के वकील सिंघवी ने कहा कि  शनिवार को होने जा रही इस कार्रवाई की  विडियोग्राफी होनी चाहिए जिस पर. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि डीजीपी को इस बारे में जरूरी आदेश  जारी कर दिए जाएंगे.

 

भ ाजपा को एक और झटका देते हुए शीर्ष अदालत ने यह भी साफ कर दिया बहुमत के परीक्षण में गुप्त मतदान नहीं होगा ताकि पूरी पारदर्शिता बनी रहे.

Spread the love

Leave a Comment