Share
ये बच्चा नहीं 23 साल का जवान है….

ये बच्चा नहीं 23 साल का जवान है….

हिसार में रहने वाला मनप्रीत है तो 23 साल का जवान पर दुर्भाग्य से उसके पास बच्चों वाला शरीर है जिससे न तो वो खुद चल सकता है  और न ही कोई काम कर सकता है.

23 साल के इस मनप्रीत का वजन पांच किलो से कम है और इलाके के लोग इसे भी दैवीय अवतार मानकर उससे आशीर्वाद लेने आते हैं.

मनप्रीत फिलहाल हिसार में अपने मामा के यहां रहता है क्योंकि उसके मां-बाप के पास इलाज कराने के साधन नहीं हैं.

जन्म के समय मनप्रीत बिल्कुल सामान्य था और एक साल तक उसका विकास भी सामान्य बच्चों की तरह हुआ लेकिन एक साल होते ही अचानक उसका विकास रुक गया जिसका नतीजा है कि शरीर के तौर पर वो आज भी एक साल का बच्चा ही है.

फिलहाल मनप्रीत एक या दो रोटी दाल या सब्जी के साथ खाता है पर बोलने के नाम पर सिर्फ मां या मामा ही बोलता है.

डाक्टरों के अनुसार या तो इसका कारण हारमोनों का असंतुलन है या फिर वो लारेन सिंड्रोम का शिकार है जिसके दुनिया में कुल सौ मरीज हैं और जिसमें क्रोमोसोम्स में बदलाव से बच्चों का विकास ठहर जाता है.

Spread the love

Leave a Comment