Share
मूर्खता की मिसालः मकबरे को बना दिया शिव मंदिर

मूर्खता की मिसालः मकबरे को बना दिया शिव मंदिर

देश में इस समय कुछ मूर्ख ऐतिहासिक इमारतों को मिटाकर अपने ढंग से जबरिया इतिहास बदलने का अभियान चला रहे हैं बिना ये समझे कि वो जो भी करेंगे वो वर्तमान होगा इतिहास नहीं और इसकी एक मिसाल दिल्ली से भी सामने आई जहां भाजपा सभासद  की साजिश से 15वीं सदी के एक मकबरे को मूर्तियां रखकर शिव मंदिर का रूप दे दिया गया.

दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव स्थित हुमायूंपुर गांव में तुगलक के शासनकाल का एक संरक्षित मकबरा गुमटी था जिसे मार्च के महीने में शिव की मू्र्तियां रखकर और भगवा रंग से रंगकर शिव मंदिर बना दिया गया.

स्मारक के नजदीक में ही बैठने के लिए दो भगवा रंग के बेंच लगवा दी गईं और इलाके की सभासद राधिका अबरोल फोगाट का नाम भी इस कार्य में महान कार्य करने के लिए लिखवा दिया गया.

इस बारे में इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर का संज्ञान लेते हुए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष शिशोदिया ने जब पुरातत्व विभाग की दिल्ली शाखा से जानकारी मांगी तो उन्हें बताया गया कि इस मकबरे में तो मरम्मत का काम भी होना था पर वो स्थानीय लोगों के विरोध के कारण नहीं हो पाया और इस बारे में पुलिस और अन्य लोगों को सूचना भेजी जा चुकी है.

बहरहाल अब दिल्ली सरकार की पहल पर इस धरोहर इमारत से सभासद के नाम लिखी बेंच हटा दी गई हैं और मंदिर को पुरानी हालत में लाने का काम शुरु किया जा चुका है.

Spread the love

Leave a Comment