Share
मिल गई गंजेपन की दवा

मिल गई गंजेपन की दवा

आखिरकर वैज्ञानिकों को पुरुषों के गंजेपन का इलाज मिल ही गया और यह वही दवा है जो आस्टियोपोरैसिस मे भंगुर हड्डियों के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती रही है.

वे316606 नाम की इस दवा के इस नए इस्तेमाल का पता मेनचेस्टर विश्वविद्यालय  के वैज्ञानिकों ने लगाया है जिनका कहना है कि भले ही वो इत्तेफाक से  इस नतीजें तक पहुंचे हों पर यह दवा इतनी असरदार है कि इससे मात्र छह दिनों में दो मिलीमीटर तक बाल बढ़ गए.

शोधकर्ता डा. नाथन हाकशा का कहना है कि दरअसल गंजेपन के इलाज में हम उस प्रोटीन को अहमियत ही नहीं दे रहे थे जो ऐसे लोगों में बालों का बढ़ना रोकती है.

यह दवा इसी प्रोटीन को निष्क्रिय करके बालों को बढ़ाने या फिर से उगाने में मदद करती है और इसे महिलाओं के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

लेकिन इस दवा का अभी क्लीनिकल ट्रायल होना है और अगर उसमें भी यह दवा पास हो जाती है तो शायद गंजे लोगों को अपने सिर पर दोबारा बाल देखने के लिए हेयर ट्रांसप्लांट का सहारा न लेना पड़े.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Spread the love

Leave a Comment