Share
भारत के आसपास के सारे सोना-चांदी को लेकर चीन की दादागीरी जारी

भारत के आसपास के सारे सोना-चांदी को लेकर चीन की दादागीरी जारी

चीन जिस तरह भारत के आसपास मौजूद सोना चांदी और दूसरी कीमती धातुओं का जमीन से दोहन कर रहा है वह भारत के लिए चिन्ता की बात तो है ही क्योंकि इस प्रतिपर्धा में हम चीन से काफी पीछे छूटते जा रहे हैे.

हालत  यह है कि नेपाल,, पाकिस्तान अधिकृत  कश्मीर, अक्साई चिन, अफगानिस्तान के बाद चीन अब भारत के अरुणाचल प्रदेश से लगी सीमा पर भी बड़े पैमाने पर सोना-चांदी और दूसरी कीमती धातुओं के खनन का काम बड़े पैमाने पर शुरू कर चुका है.

हांगकांग के साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट में दो-तीन दिन पहले छपी एक खबर के अनुसार चीन ने अरुणाचल  के अपने कब्जे वाले इलाके लुहन्जे में बड़े पैमाने पर जमीन से सोना चांदी निकालना शुरू किया है.

यह इलाका हालांकि भारत का है पर इस समय चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के कब्जे में हैं और चीन तो वैसे भी पूरे अरुणाचल को ही दक्षिणी तिब्बत मानता है और उस पर अपनी दावेदारी जताता रहा है.

चीनी मीडिया के अनुसार इस इलाके में सोना, चांदी , थोरियम, यूरेनियम बोरैक्स आदि कीमती धातुओं  का अकूत भंडार है जो मोटे तौर पर किए गए आकलन के अनुसार  60 खरब अमरीकी डालर से ज्यादा का है और इस सम्पदा के दोहन के लिए इस क्षेत्र पर कब्जा करने के बाद चीन ने बाकायदा यहां  सड़कों और परिवहन के साधनों का जाल बिछाया.

इस इलाके से कीमती धातुओं का चीन कितना दोहन कर रहा है यह इसी से समझा जा सकता है कि मीडिया रिपोर्ट कहती है कि हर दिन हजारों टन अयस्क ट्रकों में ढोए जा रहे हैंं.

वैसे अरुणाचल ही नहीं चीन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर, अक्साई चिन,नेपाल से भी कीमती धातुओं का दोहन कर रहा है यानि भारत के चारों ओर मौजूद कीमती खनिज सम्पदा धीरे धीरे चीन की होती जा रही है.

 

Spread the love

Leave a Comment