Share
पाक खुफिया प्रमुख को किताब लिखना और भारत में विमोचन कराना भारी पड़ा

पाक खुफिया प्रमुख को किताब लिखना और भारत में विमोचन कराना भारी पड़ा

पाकिस्तान के खुफिया प्रमुख आईएसआई चीफ रहे  पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) असद दुर्रानी के लिए  अपने अनुभवों पर भारतीयों के साथ  मिलकर किताब लिखना और उसका विमोचन भारत  में कराना भारी पड़ गया है.

उनके खिलाफ न सिर्फ पाकिस्तान सेना ने  न सिर्फ कोर्ट ऑफ इनक्वायरी के आदेश दे दिए हैं बल्कि उनका नाम भी नो फ्लाइंग लिस्ट या एग्जिट कंट्रोल लिस्ट   में डाल दिया है ताकि वो कोई भी विमान पकड़कर देश के बाहर न जा सके.

उल्लेखनीय  है कि  आईएसआई चीफ ने भारतीय गुप्तचर एजेंसी  रॉ के पूर्व प्रमुख जनरल एएस दुलत  और भारतीय पत्रकार के साथ मिलकर अपने अनुभवों पर द स्पाई क्रानिकलः रॉ, आईएसआई एंड इल्युसन आफ पीस किताब लिखी है.

हार्पर कोलिंस द्वारा प्रकाशित इस किताब का  कुछ दिन पहले ही देश के कई प्रमुख नेताओं की मौजूदगी में दिल्ली में विमोचन हुआ था पर इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने अपने मुख्यालय में तलब करके पूछतांछ की थी पर इससे संतुष्ट न होते हुए उनके खिलाफ बड़डी जांच बैठा  दी गई है.

उल्लेखनीय है कि  दुर्रानी अगस्त 1990 से मार्च 1992 तक  पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख रहे हैं.

Spread the love

Leave a Comment