Share
कहीं गोवा और बिहार न पहुंच जाए कर्नाटक की लड़ाई

कहीं गोवा और बिहार न पहुंच जाए कर्नाटक की लड़ाई

कर्नाटक के राज्यपाल  के विवेक ने देश की राजनीति में एक नई बहस की शुरूआत कर दी है और इसी के तहत कांग्रेस और  विपक्षी दल गोवा और बिहार जैसे राज्यों में सत्ता पलट का दबाव बनाने की कोशिश कर सकते हैं.

गोवा में कांग्रेस तो बिहार में लालू प्रसाद की राष्ट्रीय जनता दल सबसे बड़ी पार्टी है पर वहां सत्ता की बागडोर छोटी पार्टी के हाथ में है इसलिए महज भाजपा को आइना दिखाने के लिए इन राज्यों में भी सत्ता की बागडोर सबसे बड़ी पार्टी के हाथों में देने की मांग उठाई जा सकती है.

गोवा में  कांग्रेस ने भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा है कि राज्य में वही सबसे बड़ी पार्टी है, इसलिए उसे सरकार सौंपी जाए तो बिहार में भी  आरजेडी नेता तेजस्वी यादव राज्यपाल से मिलकर कहने वाले हैं की राज्य में वो सबसे बड़ी पार्टी के नेता है इसलिए नितीश को हटाकर सत्ता उन्हें दी जाए.

गोवा में तो कांग्रेस इस बात को लेकर कुछ ज्यादा ही गम्भीर है और खबर है कि वह जल्दी ही राज्यपाल के सामने विधायकों की परेड  भी करा सकती है.

गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता यतीश नाइक ने कहा  17 सीटें जीतकर हम सबसे बड़ी पार्टी बने थे लेकिन राजयपाल ने 13 सीटें जीतने वाली भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया पर अब इस गल्ती को सुधारने का समय आ चुका है.

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कर्नाटक के राज्यपाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वजुभाई वाला ने पहले भी नरेंद्र मोदी के लिए अपनी खुद की विधानसभा सीट गुजरात में  कुर्बान की थी और अब उन्होंने मोदी जी के लिए देश के संविधान और लोकतंत्र को कुर्बान कर दिया.

Spread the love

Leave a Comment