Share
कठुआ रेप केस: बेटे को बचाने के लिए ली थी मासूम बच्ची की जान

कठुआ रेप केस: बेटे को बचाने के लिए ली थी मासूम बच्ची की जान

 कठुआ में आठ साल की बच्ची की बलात्कार के बाद हुई हत्या  में  एक आरोपी के बयान से यह खुलासा हो गया था कि आखिर इस बच्ची को मारा क्यों गया.

पुलिस का कहना है कि आरोपियों में से एक सांझी राम ने बताया है कि अपहरण के चार दिनों बाद बलात्कार बच्ची के  बलात्कार में अपने बेटे के भी शामिल होने का उसे पता चला और इसके बाद ही उसने बच्ची की हत्या करने का निर्णय किया

सांझी राम  ने माना कि 14 जनवरी को उसने  बच्ची की हत्या कर दी. लेकिन इसके बाद चीजें योजना के मुताबिक नहीं हुईं.

यह भी पढ़ें : दूसरी कक्षा की छात्रा का टीचर ने

वह बच्ची को मारने के बाद उसे हीरानगर नहर में फेंकना चाहता था, लेकिन वाहन का इंतजाम नहीं होने के कारण उसे उसी‘देवीस्थान ’ में वापस लाना पड़ा जिसका वह सेवादार था.

बाद में बच्ची का शव 17 जनवरी को जंगल से बरामद हुआ था.

जांचकर्ताओं ने बताया कि सांझी राम ने अपने भतीजे को जुर्म स्वीकार करने के लिए तैयार कर लिया था, लेकिन बेटे विशाल को बचाने की उसने पूरी कोशिश की.

गौरतलब है कि इस मामले में नाबालिग के अलावा सांझी राम , उसके बेटे विशाल और पांच अन्य को आरोपी बनाया गया है।

 

Spread the love

Leave a Comment