Share
एक साल से बच्चों का इंतजार कर रही फिल्म पाकीजा की हीरोइन ने दम तोड़ा

एक साल से बच्चों का इंतजार कर रही फिल्म पाकीजा की हीरोइन ने दम तोड़ा

कमाल अमरोही की सुपरहिट फिल्म पाकीजा  की हीरोइन गीता कपूर ने आखिरकार अपने बच्चों का इंतजार करते करते आज सुबह मुम्बई के एक वृद्धाश्रम  में दम तोड़ दिया.

साल भर से उनकी देखभाल कर रहे फिल्म प्रोड्यूसर अशोक पंडित ने आज ट्वीट करके उनके निधन की जानकारी दी और लिखा कि  में इस समय गीता कपूर के पार्थिव शरीर के पास खड़ा हूं जिनके बच्चे  साल भर पहले उन्हें एसआरवी अस्पताल में छोड़ गए थे और वो अपने बेटे और बेटी के इंतजार में लगातार कमजोर होती चली गईं.

अशोक ने ट्वीट में आशा ओल्ड होम का शुक्रिया अदा करते हुए गीता कपूर के पार्थिव शरीर की फोटो भी शेयर की है और लिखा है कि हमने तो उन्हें खुश करने के लिए पिछले सप्ताह एक छोटी सी  पार्टी भी रखी थी पर वह भी उन्हें कोई खास  संतोष नहीं दे सकी.

गीता कपूर अपने जमाने में 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है और  ‘पाकीजा’ में उन्होंने राजकुमार की दूसरी पत्नी का रोल अदा किया था.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक  उनका एक बेटा है जो कोरियॉग्राफ़र है और बेटी है जो एयर होस्टेस है और उनके अस्पताल का  बिल भी  अशोक पंडित और फिल्ममेकर रमेश तौरानी भरा करते थे.

Spread the love

Leave a Comment