Share
आंकड़े कहते हैं उपचुनावों में नहीं चलता मोदी-शाह का  जादू

आंकड़े कहते हैं उपचुनावों में नहीं चलता मोदी-शाह का जादू

पूरे देश में जिस मोदी मैजिक का ढिंढोरा पीटा जाता है और जिसके सहारे  भाजपा अध्यक्ष अमित  शाह अगले चालीस सालों तक देश  पर शासन करने के बड़बोले दावें करते हैं उसका जादू राज्य कोई भी हो पर उपचुनावों में तो चलता नजर नहीं आता.

मोदी-अमित शाह की जिस जोड़ी को राजनीति में लोकसभा चुनावों में अपराजेय बताकर  प्रचारित किया गया था उसके जादू को पता नहीं क्यों उपचुनावों में सांप सूंघ जाता है तभी तो देश में 2014 में केंद्र में सरकार बनाने के बाद हुए 23 उपचुनावों में ये जोड़ी कुल पांच सीटों पर ही जीत दर्ज कर  सकी है.

यही नहीं इन उप- चुनावों में भाजपा  अपनी छह महत्वपूर्ण सीटें गंवा चुकी है वो चाहे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपनी गोरखपुर सीट हो या फूलपुर या फिर अब स्वर्गीय हुकुम सिंह की कैराना सीट.

भाजपा के खाते में उप चुनावों में सिर्फ 2014 में  महाराष्ट्र की बीड, गुजरात की वडोडरा, पंजाब की गुरुदासपुर और मध्य प्रदेश की शहडोल और 2016 में  असम की लखीमपुर सीटें आईं बाकी सारी सीटें दूसरे दलों ने जीत ली भले ही उनमें से कई भाजपा की पुरानी सीटें रही हों.

Spread the love

Leave a Comment