Share
अमेरिका में मुस्लिम कैदियों को रोज़ा खोलने के लिए सुअर का मांस

अमेरिका में मुस्लिम कैदियों को रोज़ा खोलने के लिए सुअर का मांस

अमेरिका में मुस्लिम कैदियों को रमजान के महीने में रोजों के बाद सुअर का मांस खाने के लिए दिए जाने के खिलाफ एक गैर सरकारी  संस्था ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है.

काउंसिल आफ अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशन्स ने अदालत में दायर याचिका में आरोप लगाया है कि अलास्का जेल में मुस्लिम कैदियों को रोजे खोलने में सुअर का मांस देकर अजीब तरह की सजा दी जा रही है जबकिॆ इस्लाम में यह मांस वैसे ही हराम है और  रमजान के महीने में तो यह और भी गलत है.

याचिका में कहा गया है कि मुस्लिम कैदियों को शाम के समय रोजा खोलते समय पांच सौ से हजार कैलरी की उर्जा वाले पैकेट दिए जाते हैं  जबकि उन्हें 22 सौ से ढाई हजार कैलरी का भोजन मिलना चाहिए और उस पर भी इनमें सुअर के मांस या हैम की  सैँडविच होती है जिसे धार्मिक मान्यता के कारण मुस्लिम नहीं खाते तो उन्हें कुछ और दिया भी नहीं जाता.

 

 

 

Spread the love

Leave a Comment