Wednesday, September 20 2017
BREAKING NEWS

संजय गांधी की अवैध बेटी का दावा करने वाली प्रिया डीएनए टेस्ट को तैयार

 संजय गांधी की अवैध बेटी का दावा करने वाली प्रिया डीएनए टेस्ट को तैयार

संजय गांधी की अवैध बेटी का दावा करने वाली प्रिया डीएनए टेस्ट को तैयार

देश की राजनीति में एक नया बम आज उस समय अचानक फूट गया प्रियापाल सिंह पाल नाम की एक महिला ने खुद को स्व. संजय गांधी की बेटी होने का दावा करते हुए कहा कि वो अपनी बात साबित करने के लिए किसी भी समय डीएनए टेस्ट कराने के लिए तैयार है.

कारोबारी जगत से रिश्ता रखने वाली प्रिया सिंह पाल नामकी इस महिला ने फिल्म इंदु-सरकार को लेकर दिल्ली में बुलाई गई एक प्रेस कांफ्रेस में दावा किया कि फिल्म में उसके पिता संजय दत्त और दादी स्व, इंदिरा गांधी को राजनीतिक कारणों से गलत ढंग से पेश किया जा रहा है जिसके कारण आज उसे अपनी पहचान गुप्त रखने का संकल्प तोड़ना पड़ा.

इस महिला का दावा है कि संजय गांधी ने उसकी मां से एक मंदिर में विवाह किया था और इसका पता पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के परिवार को था पर 12 दिसंबर 1968 को उसके जन्म के बाद मां को दिल्ली से हटा दिया गया और उसे कारोबारी बलदेव सिंह पाल व उनकी पत्नी शीला सिंह पाल को सौंप दिया गया जिन्होंने उसे पाला पोसा.

प्रिया का कहना है कि उसे यह तो पता है कि संजय गांधी उसके पिता हैं पर मां के बारे में वह कुछ नहीं जानती क्योंकि जन्म के बाद से ही उसे गायब कर दिया गया है पर उसने’शिशु भवन’ और ‘निर्मल छाया’ नामकी संस्थाओं के खिलाफ इसी आधार पर पहले ही एफआईआर दर्ज करा रखी है क्योंकि बिना माता पिता का नाम दर्ज किए इन दोनों ने उसे अपने यहां रखा और फिर एक अन्य उद्योगपति को पालने के लिए दे दिया और बाद में संजय की शादी मेनका से हो गई.

बहरहाल आज की प्रेस कांफ्रेस में उसने इंदू सरकार फिल्म के निर्देशक मधुर भंडारकर, निर्माता भरत शाह, सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू तथा केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी को कानूनी नोटिस भेजकर संजय गांधी और इंदिरा गांधी से जुड़े ऐतिहासिक तथ्यों को साजिशन फिल्म में गलत ढंग से पेश किए जाने के आरोप लगाए.

प्रेस कांफ्रेस में मौजूद एक सामाजिक-धार्मिक संस्था के स्वामी ने भी कहा कि वो ये तो संजय गांधी के बारे में तो जानते हैं क्योंकि प्रिया के नाक-नक्श और हावभाव संजय गांधी से बहुत मिलते हैं पर वो उसकी मां के बारे में नहीं जानते क्योंकि संजय से मिलने तो बहुत सी लड़कियां आती रहती थीं.

प्रिया की मां के बारे में वे चुप्पी साध गए और कहा कि कई लड़कियां संजय गांधी से मिलने आती थीं। ऐसे में वह कैसे दावा कर सकते हैं कि उनमें से कौन प्रिया की मां हैं। प्रिया ने कहा संजय गांधी ने 21 वर्ष की आयु में उनकी मां से मंदिर में विवाह किया था और उनका जन्म को हुआ। उसका नाम प्रियदर्शनी रखा गया लेकिन राजनीतिक कारणों से उसे को देखभाल के लिए सौंप दिया गया।

या ने कहा अब तक जुटाए दस्तावेजों से पता चला है कि संजय गांधी ही उसके पिता थे लेकिन मां कहां हैं उनकी तलाश की जा रही है। सोमवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रिया ने दावा किया कि उनके जन्म के तुरंत बाद जबरन उनकी मां को दिल्ली छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया गया और उसे पाल दंपति को गोद दे दिया गया।

इस दंपति को भी पता था कि वह किसकी संतान है लेकिन उन्होंने भी मेरे जीवन को खतरा देख कभी भी मुझे दिल्ली नहीं आने दिया और पूरी तरह से सुरक्षा में रखा। अपने दावे के समर्थन में प्रिया सर्व धर्म संस्था के सुशील गोस्वामी महाराज को लेकर आई। उन्होंने कहा संभवत: प्रिया संजय गांधी की पुत्री हो सकती हैं।

गोस्वामी ने संजय गांधी के दोस्त होने का दावा करते हुए शपथपत्र पेश करते हुए कहा, उनकी जानकारी में है कि मेनका गांधी से विवाह से पूर्व संजय गांधी को एक लड़की हुई थी। वे पक्का दावा नहीं कर सकते कि प्रिया ही वह लड़की है लेकिन प्रिया का चेहरा, नैन-नक्श, चलने का स्टाइल संजय गांधी व उनके परिवार से मिलता है।

About the Author

Related Posts

Leave a Reply

*

Powered By Indic IME