Thursday, July 27 2017
BREAKING NEWS

बाप -बेटे में सुलह की बातचीत, मुलायम सच में पड़े मुलायम

बाप -बेटे में सुलह की बातचीत, मुलायम सच में पड़े मुलायम

बाप -बेटे में सुलह की बातचीत, मुलायम सच में पड़े मुलायम

बेटे की लोकप्रियता से हतप्रभ सपा मुखिया मुलायम के अब नरम पड़ने के आसार हैंऔर दोनों बाप बेटों के बीच वरिष्ठ नेता आजम खान की मध्यस्थता और मौजूदगी में बातचीत चल रही है.

वैसे मीडिया में जब अखिलेश को पार्टी से निकाले जाने की खबरों का मतलब निकालने में व्यस्त था तभी बाप बेटे के इस भावुक मुलाकात की स्क्रिप्ट लिखी जा रही है और जिसके सूत्रधार भी आजम खान और लालू प्रसाद यादव थे. लालू ने तो आज सुबह भी अखिलेश और मुलायम दोनों से सीधे फोन पर बातचीत करके दोनो को सीधे मुलाकात करने को प्रेरित किया.

लोगों को शायद न मालूम हो पर रमा शंकर कौशिक और जनेश्वर मिश्र जैसे नेताओं के बाद पूरी सपा में आजम खान ही ऐसे नेता है जो मुलायम के किसी फैसले के खिलाफ उनके सामने इतने करीने से उनकी मुखालफत कर सकते हैं कि मुलायम भी सोचने के मजबूर हो जाएं.

पता चला है कि आजम के साथ पिता मुलायम से मिलने उनके घर पहुंचे अखिलेश ने उनके पैर छुएं तो मुलायम की आखों से आसूं निकल पड़े और उन्होंने अखिलेश को गले लगा लिया और मौके की नजाकत समझने में माहिर आजम खान ने इस पर यह कहते हुए चोट की कि आप लोग कम से कम ऐसा व्यवहार तो न कीजिए कि लोगों का बाप बेटे के रिश्ते से विश्वास ही खत्म हो जाए.

इसके बाद दोनो के बीच शिकवे-शिकायतों का सिलसिला शुरू हुआ जिसमें अखिलेश ने साफ साफ अमर सिंह को इन सारे हालात का दोषी करार दिया और उन्हें हमेशा के लिए पार्टी से बाहर निकालने की मांग की.

इसके साथ ही अखिलेश ने पिता से यह भी साफ कर दिया कि पार्टी अगर कार्यकर्ताओं की ताकत पर चलती है तो अब साफ है कि लोग किसके साथ हैं ऐसे में उन्हें ही शिवपाल को हटाकर पार्टी की कमान सौंपनी चाहिए और टिकटों को बांटने का हक उन्हें मिलना चाहिए.

बताया जा रहा है कि नरम पडे़ मुलायम ने कुछ साफ तो नहीं कहा पर शिवपाल को तुरंत फोन करके बुला लिया जो इस बात का संकेत जरूर है कि अखिलेश की बात पर बातचीत की गुंजाइश तो है.

फिलहाल आज यह भी साफ हो गया है अखिलेश के घर पर बुलाई गई बैठक में जहां पौने दो सौ तक विधायक कोई बीस एमएलसी और कुछ पार्टी के बड़े पदाधिकारी जुटे जबकि शिवपाल गुट ने सपा दफ्तर में जो बैठक बुलाई उसमें विधायकों कि इतनी कमी रही कि खुद मुलायम ही उस बैठक में नहीं गए.

About the Author

Related Posts

Powered By Indic IME