Thursday, July 27 2017
BREAKING NEWS

पनामा-लीक की लपटे अरुण जेटली और रमन सिंह तक भी पहुंची..

पनामा-लीक की लपटे अरुण जेटली और रमन सिंह तक भी पहुंची..

पनामा-लीक की लपटे अरुण जेटली और रमन सिंह तक भी पहुंची..

पनामा-लीक की लपटे अरुण जेटली और रमन सिंह तक भी पहुंची..[/caption]काले धन से जुड़़े पनामा पेपर लीक खुलासे की लपटें अब देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह कोे भी लपेटे में लेनी लगीं है.
कांग्रेस का आरोप है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिल्ली डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष की हैसियत से 2000 में हुई बैठक में अपने जिस मित्र लोकेश शर्मा को अन्तर्राष्ट्रीय मैचों के तमाम ठेके दिए थे उसने बाद में काले धन को खपाने के लिए स्वर्ग माने जाने ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड कई कम्पनियां गैरकानूनी ढंग से डाली हैं.

कांग्रेस का कहना है कि इतना ही नहीं ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड से लीक हुए पेपरों में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के सांसद पुत्र अभिषेक सिंह का भी नाम है और उनका जा पता दिया गया है वह छत्तीसगढ़ के मौजूदा मुख्यमंत्री का ही पता है.

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि ऐसी हालत में मोदी सरकार की जांच कितनी निष्पक्ष होगी यह आसानी से समढकांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि समझा जा सकता है इसलिए अच्छा हो कि सरकार इसमें या तो स्वदलीय देखरेख में या फिर सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में ही जांच कराए.

About the Author

Related Posts

  1. Ganesh singh Reply

    यह तो सबको पता है की जेटली के
    बित्त मंत्री रहते एक भी कालाधन वाले
    सफ़ेद पॉश नहीं पकड़ायेंगे।
    क्योंकि वोन्ग्रेस्स से बिपक्षी नेता बनके
    कुछ तुम खाओ कुछ हम खाते बनाते है
    की नीति पर ही 10 बरस चला है
    अब कानून अपने हाथ में है
    मोदी जी को यही दुबयेगा। कालाधन
    भ्रस्टाचार और तुस्टिकरण यही वोट दिलाया है
    इस पर कोई दूध के धुले नहीं।मोदी जी का साथ
    रहने से ये लोग पाक साफ नहीं हो गए।

Leave a Reply

*

Powered By Indic IME